साहिबंगज, जेएनएन। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को फोन पर धमकी देने वाले कृष्ण कुमार सिंह उर्फ सिद्धांत सिंह को हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला थाना की पुलिस रिमांड पर ली है। सिद्धांत के खिलाफ धर्मशाला में भी नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का मुकदमा दर्ज है। धर्मशाला पुलिस ने प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी आरके पांडेय की अदालत में ट्रांजिट रिमांड पर ले जाने की अर्जी दी। न्यायालय के आदेश के बाद राजमहल अनुमंडलीय अस्पताल में कोविड जांच के अलावा कई तरह के स्वास्थ्य परीक्षण के बाद हिमाचल पुलिस उसे ले गई।

सितंबर, 2020 में उद्धव ठाकरे को फोन पर दी थी धमकी

सितंबर में सिद्धांत सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को फोन पर धमकी भी दी थी। महाराष्ट्र पुलिस ने मोबाइल नंबर की जांच की। मोबाइल का लोकेशन बिहार के पूर्णिया बता रहा था। इसके बाद बरहड़वा एसडीपीओ पीके मिश्रा के नेतृत्व में तत्कालीन इंस्पेक्टर त्रियुगी नारायण झा व बरहड़वा थाना प्रभारी रवींद्र कुमार को पूर्णिया भेजा गया। वहां के एक अपार्टमेंट से कृष्ण कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया। उसके पास से नौ मोबाइल, आधार व पैन कार्ड तथा एचडीएफसी बैंक का एक डेबिट कार्ड भी बरामद किया गया था। साहिबगंज पुलिस को अनुसंधान में पता चला कि सिद्धांत सिंह उत्तर प्रदेश के बलिया का मूल निवासी है। साहिबगंज के बरहड़वा व बिहार के पूर्णिया में भी उसका आवास है। उसने तीन शादियां की हैं। तीनों जगह एक-एक पत्नी रहती है। बरहड़वा के पत्थर व्यवसायी व एक नेता से उसने ठगी की कोशिश की थी। उन्हें मारने की धमकी भी दी थी। उसने साहिबगंज के एक व्यक्ति को ब्लैकमेल कर 35 हजार रुपये भी ठग लिए थे।

सिद्धार्थ सिंह नाैकरी दिलाने के नाम पर करता ठगी

सिद्धार्थ सिंह यूपी पुलिस को भगोड़ा सिपाही है। वह नाैकरी दिलाने के नाम पर ठगी का काम करता है। हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में नाैकरी दिलाने के नाम पर ठगी की थी। इसी मामले में उसपर मामला दर्ज है। हिमाचल पुलिस सोमवार ने सोमवार को साहिबगंज कोर्ट से रिमांड की स्वीकृिति मिलने के बाद उसे अपने साथ ले गई। सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या का मामला जब सुर्खियों में था सिद्धार्थ ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को फोन कर जान से मारने की धमकी दी थी। 

Edited By: Mritunjay