जासं, धनबाद: प्रिंस खान का खास शूटर वासेपुर निवासी अफरीदी सहित पुलिस ने तीन आरोपितों को शनिवार को जेल भेजा है। इसमें अफरीदी के अलावा वासेपुर का फैजल और तारिक शामिल है। अफरीदी और तारिक की तलाश पुलिस को काफी दिनों से थी। इन दोनों मार्डन टायर दुकान के बाहर फायरिंग, कपड़ा व्यवसायी सलीम और डबलू को गोली मारने में शूटर की भुमिका निभाई थी। इसके अलावा नन्हें अंसारी हत्याकांड में भी इनकी अहम भुमिका थी। पुलिस ने इनकों वासेपुर के ही एक अर्धनिर्मित भवन से गिरफ्तार किया था। यह तीनों वहीं छिप कर बैठे थे। पुलिस ने इनके पास से एक पिस्टल, छह गोली और दो मोबाइल बरामद किए है। पुछताछ में इन लोगों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

लाइजनर का काम करता है फैजल: फैजल प्रिंस के लिए वासेपुर में लाइजनर का काम करता है। हर कांड में इसी ने हथियार उपलब्ध कराया है। इसका भाई शामी भी प्रिंस के लिए ही काम करता है। नन्हें हत्याकांड में शामी का नाम है, वह भी प्रिंस के साथ ही फरार चल रहा है अभी तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। वहीं शूटर अफरीदी का भाई आसिफ भी नन्हें हत्याकांड में बेल पर बाहर है।

आधा दर्जन को गिरफ्तार कर भेज चुकी है पुलिस: मार्डन टायर सेंटर, कपड़ा व्यवसायी और डबलू गोली कांड में पुलिस वासेपुर के आधा दर्जन प्रिंस के गुर्गों को पूर्व में ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। मगर पुलिस मुख्य शूटर अफरीदी और तारिक को नहीं पकड़ पा रही थी। इन लोगों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने प्रिंस को काफी कमजोर कर दिया है। गौरतलब हो कि आजाद नगर के ठेकेदार मतलूब अंसारी और हाउसिंग कालोनी के ठेकेदार रामनरेश सिंह के घर पर फायरिंग मामले में पुलिस ने वासेपुर के बाहर रहने वाले प्रिंस के पांच गुर्गों को जेल भेजा है।

दो दिन के अंदर प्रिंस के घर हो सकती है कुर्की : प्रिंस खान के घर दो दिनों के अंदर कुर्की जब्ती हो सकती है। पुलिस ने इसकी तैयारी पूरी कर ली है। पंचायत चुनाव खत्म हो गया है। पुलिस बस चुनाव का इंतजार कर रही थी। प्रिंस खान के घर पर 25 दिन पूर्व ही बैंक पुलिस ने एक पुराने रंगदारी मामले में इश्तेहार चिपकाया था। मगर बीच में पंचायत चुनाव हो जाने के कारण पुलिस ने इस पर ध्यान नहीं दिया मगर अब चुनाव खत्म होने के बाद पुलिस एक बार फिर से तैयार हो गई है। इस मामले में एसएसपी संजीव कुमार ने बताया कि दो दिनों के अंदर ही प्रिंस के घर कुर्की जब्ती की जाएगी।

Edited By: Atul Singh