जागरण संवाददाता, धनबाद: गैंग्स ऑफ वासेपुर के फहीम खान, उसके भांजे प्रिंस, ऋतिक, गोडविन और बंटी के अलग-अलग मामलों की सुनवाई बुधवार को न्यायालय में हुई। इन्हें किसी भी मामले में राहत नहीं मिली। रंजीत हत्याकांड में जेल में बंद फहीम के भांजे प्रिंस खान की जमानत अर्जी बुधवार को जिला एवं सत्र न्यायाधिश रिजवान अहमद ने खारिज कर दी। प्रिंस चार सितंबर 2018 से जेल में है। 21 अगस्त को अपराधियों ने झारखण्ड विकास युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष एवं बीकेबी के प्रबंधक रंजीत सिंह को गोली मारकर हत्या कर दी थी।

रंगदारी मामले में अभिलेख तलब: सोहेब आलम से 10 लाख रूपये रंगदारी मांगने के आरोप में जेल में बंद फहीम खान के भांजे प्रिंस खान को बुधवार को भी अदालत से राहत नही मिली। प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश रंजीत कुमार चौधरी की अदालत ने निचली अदालत से अभिलेख की मांग करते हुए सुनवाई के लिए 19 जनवरी की तारीख निर्धारित कर दी है।

प्रिंस और ऋतिक की पेशी: रिकवरी एजेंट उपेंद्र सिंह पर हुए जानलेवा हमला कांड की सुनवाई जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत मे हुई। इस दौरान आरोपी प्रिंस खान एवं ऋतिक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेश किया गया। वहीं, आरोपी अमित पासवान ने डिस्चार्ज अर्जी देकर आरोप मुक्त करने की प्रार्थना की। अदालत ने सुनवाई की अगली तारीख निर्धारित कर दी है।

फहीम, प्रिंस व गोडविन की पेशी: आयशा खातून के घर में घुसकर आग लगा देने के मामले में गैंग्स ऑफ वासेपुर के मुख्य किरदार फहीम खान, भांजा प्रिंस खान और गोडविन खान को बुधवार को न्यायालय में पेश किया गया। इन सभी की पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की गई। जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत ने बचाव पक्ष को गवाह पेश करने का निर्देश देते हुए अगली तारीख निर्धारित कर दी है।

Posted By: Deepak Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप