गांधी जी ने अहिंसा से अंग्रेजों को भारत छोड़ने पर किया मजबूर : प्रो चोपड़ा

झरिया : आरएसपी कालेज झरिया बेलगड़िया में बुधवार को आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर पौधारोपण और भारत के स्वतंत्रता में झारखंड के योगदान विषय पर संगोष्ठी हुई। कालेज के प्रभारी प्राचार्य प्रो एसके चोपड़ा, प्रोफेसर इंचार्ज डा बी कुमार के नेतृत्व में शिक्षकों, विद्यार्थियों ने पौधारोपण किया। गया। इसके बाद कांफ्रेंस हाल की संगोष्ठी में शिक्षकों, विद्यार्थियों ने झारखंड के स्वतंत्रता सेनानियों व उनके योगदानों पर विचार रखे। प्रो एसके चोपड़ा ने कहा कि आजादी का सही मतलब भयमुक्त होना है।

गांधी जी ने बिना डरे अहिंसा के प्रहार से अंग्रेजों को भारत छोड़ने पर मजबूर कर दिया। वहीं प्रो. इंचार्ज डा. बी कुमार ने कहा कि झारखंड के हर कोने से आजादी के लिए लोगों ने बलिदान दिया। इसके बाद डा. निलेश कुमार सिंह ने कहा कि झारखंड में 1857 की क्रांति के बहुत पहले ही आजादी के लिए अंग्रेजों से लड़ाई शुरू हो गई थी। इस अवसर पर प्रो. सुरेश मुंडा, डा. रितेश रंजन, डा. श्याम किशोर प्रसाद, प्रो. रामचंद्र कुमार आदि ने विचार रखे। एम काम के छात्र सौरभ कुमार ने बिरसा मुंडा की लाइव तस्वीर बनाई। जिसे उपस्थित लोगों ने काफी सराहा। इस दौरान सभी ने देश के विकास में अपना योगदान देने का संकल्प लिया। इस मौके पर प्रो. एतवा टूटी, प्रो. अशोक कुमार चौबे, डा. भावना कुमारी, डा. शुभा आजमानी, डा. गौरी मुंडा, प्रो. रजनी बाड़ा, प्रो. रमेश सरदार, डा. अंशुमन, डा. रूबी रंजन प्रसाद, डा. मनोरंजन सिंह बीएड प्रशिक्षु दिव्या सेठ, दीपशिखा, मो ताहिर, मो शेख फहीम, कुमारी किरण सिंह, राज विवेक, समीर, कौशल, कुमारी दीपशिखा सिंह आदि लोग मौजूद थे।

Edited By: Jagran