जागरण संवाददाता, धनबाद। धनबाद के पूर्व से सीनियर डीओएम वेद प्रकाश को रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का ओएसडी बनाया गया है। रेलवे बोर्ड ने उन्हें सौंपी गई नई जिम्मेदारी से जुड़ा आदेश जारी कर दिया है। वेद प्रकाश धनबाद रेल मंडल में लंबे समय तक रहे हैं। धनबाद में रहते हुए वेद प्रकाश ने रेलवे के राजस्व को बढ़ाने के लिए काफी अच्छे कार्य किए थे। इसकी तारीफ हुई थी। वेद जहां भी रहे हैं कुछ नया करते रहे हैं। माना जा रहा है कि इसी कारण रेल मंत्री के ओएसडी की जिम्मेदारी दी गई है। क्योंकि अश्विनी वैष्णव को रेलवे में व्यापक सुधार और बदलाव के लिए रेल मंत्री बनाया गया है।

सुरेश प्रभु के ट्विटर हैंडलिंग टीम का रह चुके हिस्सा

सीनियर डीओएम रहते हुए वेद प्रकाश धनबाद रेल मंडल की लादान क्षमता को बढ़ाने का काम किया। धनबाद को 100 मिलियन टन लोडिंग वाले डिवीजन में शामिल करने का श्रेय उन्हें ही है। धनबाद से स्थानांतरण के बाद उन्हें रेलवे बोर्ड में डायरेक्टर इंफॉर्मेशन एंड पब्लिसिटी के रूप में जगह मिली थी। पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु के कार्यकाल में उनके ट्विटर हैंडलिंग टीम में भी वेद प्रकाश शामिल थे। ट्विटर पर शिकायत मिलते ही यात्रियों को तुरंत सेवा उपलब्ध कराने के मामले में उनकी काफी सराहना भी हुई थी।

डीएफसीसी में भी अपनी क्षमता का दे चुके हैं परिचय

बाद में रेलवे ने उन्हें डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन ऑफ इंडिया में प्रतिनियुक्ति पर भेजा गया। काफी समय तक वह भी रहे। फ्रेट कॉरिडोर माल परिवहन को लेकर भारतीय रेल की महत्वाकांक्षी परियोजना है। इस परियोजना में भी वेद प्रकाश के नेतृत्व में काम काफी आगे बढ़ा है। अब एक बार फिर उन्हें वापस रेलवे बोर्ड बुला लिया गया है। वेद प्रकाश अब रेल मंत्री के ओएसडी के तौर पर सेवा देंगे। उन्हें मिली नई जिम्मेदारी को लेकर धनबाद रेल मंडल के अधिकारी और कर्मचारियों में भी खासा उत्साह है।

 

Edited By: Mritunjay