जागरण संवाददाता, धनबाद : रोड कंस्ट्रक्शन डिविजन की ओर से शहर की प्रमुख सड़कों की मरम्मत को लेकर टेंडर निकाला गया है। इस पर सवाल खड़ा हो गया है। एक ठेकेदार ने पथ निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता को शिकायत देकर गड़बड़ी का आरोप लगाया है। बलियापुर, चिरकुंडा और टुंडी के निरीक्षण भवन की मरम्मत पर 25-25 लाख का एस्टीमेट प्राक्कलन तैयार किया गया है।

इसी तरह सिटी सेंटर बरवाअड्डा रोड के गड्ढे की भराई के लिए भी 25 लाख का प्राक्कलन बना है। कुछ ऐसी सड़के हैं जहां दो से चार गड्ढे हैं और उसका प्राक्कलन 20 से 25 लाख तक का तैयार कर दिया गया है। पथ निर्माण विभाग की ऐसी 28 योजनाओं के लिए ओवर एस्टीमेट तैयार किया गया है। यह शिकायत ठेकेदार रामनरेश सिंह ने पथ निर्माण विभाग के अभियंता प्रमुख से की है।

ठेकेदार ने कहा है कि कुछ ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए ओवर एस्टीमेट तैयार किया गया है। इसकी प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, राज्यपाल, मुख्य सचिव, मुख्य अभियंता, पथ निर्माण विभाग सचिव, एसीबी, लोकायुक्त, उपायुक्त से भी दी गई है। मामले की जांच कराने और एकरारनामा पर रोक लगाने की मांग पत्र के माध्यम से की गई है। यहां बता दें कि 26 अक्टूबर को 28 योजनाओं को टेंडर डाला गया था। एकरारनामा प्रक्रिया अभी चल रही है। ऐसे में ठेकेदार रामनरेश सिंह की शिकायत पत्र को लेकर विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा हो गया है। महज कुछ गड्ढों को भरने के लिए लाखों के ओवर एस्टीमेट बना दिया जा रहा है।

इस मामले में आरसीडी कार्यपालक अभियंता दिनेश प्रसाद ने कहा स्थल का निरीक्षण कर ही एस्टीमेट तैयार किया गया है। बिना स्थल निरीक्षण का प्राक्कलन तैयार नहीं किया जाता है। इस तरह का आरोप निराधार है। मुख्यालय से जांच टीम आएगी तो उसमें सहयोग करेंगे।

Edited By: Atul Singh