जागरण संवाददाता, धनबाद: शराब के नशे में लिया गया निर्णय कितना घातक हो सकता है, इस बात का अंदाजा धनबाद रेल पुलिस के एक जवान को मंगलवार की देर रात लगा। धनबाद थाना क्षेत्र में श्रमिक चौक के पास स्थित एक झोपड़ीनुमा होटल में बिना वर्दी शराब पीने के दौरान इस रेल पुलिसकर्मी की तीन युवकों के साथ भिड़ंत हो गई। इसके बाद करीब आधे घंटे तक श्रमिक चौक से रेलवे स्‍टेशन तक का इलाका अखाड़ा बना रहा। मामले की शिकायत मिलने के बाद उस जवान के साथी पुलिसकर्मियों ने मारपीट करने वाले तीनों युवकों को रात में कुछ देर तक रेल थाना में रखा, हालांकि इसके बाद उन्‍हें छोड़ दिया गया।

घटना को लेकर बताया जा रहा है कि नालंदा के दो युवकों को आउटसोर्सिंग कंपनी में नौकरी दिलाने के लिए एक युवक ने धनबाद बुलाया था। दोनों युवकों से साढ़े आठ हजार के हिसाब से 17 हजार रुपये की मांग की जा रही थी। नौकरी की तलाश में आए दोनों युवकों का कहना था कि वे रुपये लेकर नहीं आए हैं। बाद में लाकर देंगे। इसी बीच तीनों ने स्टेशन रोड की दुकान में छोला भटुरा खाया। उसके बाद श्रमिक चौक पर शराब पीने लगे।

वहीं जीआरपी का एक सिपाही बगल के टेबल पर सादे लिबास में शराब पी रहा था। इसी दौरान किसी बात को लेकर सिपाही और युवकों में बहस हुई और देखते ही देखते मारपीट शुरू हो गई। पहले तो तीनों युवक सिपाही पर भारी पड़े।इस बीच सिपाही ने फोन कर रेल पुलिस केंद्र से साथियों को बुला लिया।कुछ ही देर में आधा दर्जन पुलिसकर्मी पहुंच गए और तीनों युवकों को जमकर पीटा व रेल थाना ले गए। बताया जा रहा है कि शराब पीकर मारपीट करने वाला सिपाही रेल पुलिस केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर है। मामले की शिकायत रेल एसपी तक पहुंच चुकी है। रेल थाना प्रभारी अमरजीत प्रसाद इस मामले में रेल एसपी को मंगलवार को रिपोर्ट सौंप सकते हैं।

Edited By: Deepak Kumar Pandey