धनबाद, जेएनएन। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की 10वीं और 12वीं की उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन मंगलवार से शुरू हो गया। जिले में लगभग 10 मूल्यांकन केंद्र बनाए गए हैं। यहां के हेड एग्जामनर (एचई) परीक्षकों को उनके घर-घर जाकर उत्तरपुस्तिका उपलब्ध करा रहे हैं। मूल्यांकन कार्य परीक्षक अपने घर पर करेंगे। विषय के आधार पर परीक्षकों को उत्तरपुस्तिकाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।

परीक्षकों के कॉपी जांचने के बाद एचई दुबारा उत्तरपुस्तिका की जांच करेंगे, ताकि कहीं से भी गड़बड़ी न रह जाए। किस विषय में कितने परीक्षक की जरूरत है। उन तक कैसे उत्तर पुस्तिका पहुंचेगी, इसका समन्वय एचई कर रहे हैं। इस दौरान लॉकडाउन और शारीरिक दूरी के सभी नियमों के पालन का भी निर्देश दिया गया है।

सात दिन में पूरा करना होगा मूल्यांकन : सीबीएसई के जिला सह समन्वयक सुमंत कुमार मिश्रा के अनुसार, हर परीक्षक को एक शील्ड बैग में उत्तरपुस्तिका पहुंचाई जा रही है। बोर्ड की तरफ से परीक्षकों को यह हिदायत दी गई है कि उन्हेंं दी गई उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य सात दिन में पूरा करना होगा। इसे पूरा करने के बाद उन्हेंं चीफ नोडल सुपरवाइजर के पास जमा करना होगा। जब कॉपियों को वापस पहुंचाया जाएगा, तो उसे 12 घंटे के बाद ही छुआ जाएगा।

कंटेनमेंट जोन में स्कूल वैन से घर तक पहुंचाई जाएगी कॉपियां : सुमंत ने बताया कि कॉपियां परीक्षक तक पहुंचाने की जिम्मेदारी मुख्य रूप से चीफ नोडल सुपरवाइजर को दी गई है। मुख्य परीक्षक यानी एचई के साथ मिलकर परीक्षकों तक कॉपियां पहुंचाएंगे। यहां बता दें कि डीएस कालोनी और कुमारधुबी कंटेनमेंट जोन में शामिल है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021