जागरण संवाददाता, साहिबगंज: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम गुरुवार को एक बार फिर सा‍हिबगंज पहुंची। इस दौरान टीम सीधे शहर के सकरूगढ़ स्थित स्वीटी पैलेस गई। यहां करीब 40 मिनट तक रहकर टीम ने पूरी बिल्डिंग का मुआयना किया। बताया जाता है कि यह बिल्डिंग फिलहाल मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के खास दाहू यादव के कब्‍जे में है। हालांकि टीम के पहुंचने पर यह बिल्डिंग खाली मिली। ईडी की टीम के पहुंचने पर करीब आधा दर्जन पुलिस पदाधिकारी और सीआरपीएफ के जवान मौके पर मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि ईडी इस बिल्डिंग के ऊपरी तल को सील करने की तैयारी में है।

भवन पर अवैध कब्‍जे का आरोप

जानकारी के अनुसार, स्‍वीटी पैलेस के वास्‍तविक मालिक ने दाहू यादव पर इस भवन पर अवैध ढंग से कब्जा करने का आरोप लगाया था। बताया जाता है कि साहिबगंज के सकरूगढ़ में एसडीओ ऑफिस के समीप स्थित इस तीनमंजिला विशाल भवन में कुछ लोग किराए पर भी रहते हैं। इसी के करीब मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा का भी घर है।

1:10 में पहुंची टीम, बिल्डिंग को खंगालने के बाद गई सिविल कोर्ट

गुरुवार को दोपहर बाद 1 बजकर 10 मिनट पर तीन इनोवा कार से ईडी की टीम साहिबगंज पहुंची। ईडी के अपर निदेशक देवव्रत झा इस टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। टीम जब स्‍वीटी पैलेस पहुंची तो वहां नीचे का गेट खुला था। इस दौरान पूछताछ करने पर आसपास के लोग संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। टीम अपने साथ दो वकीलों को भी लेकर आई थी।

सरकारी गवाह से हो सकती है पूछताछ

ईडी की टीम साहिबगंज जेल में आर्म्‍स एक्‍ट के मामले में बंद भवानी चौकी के ग्राम प्रधान विजय हांसदा से पूछताछ भी कर सकती है। इसके लिए टीम ने सिविल कोर्ट में आवेदन देकर सीजेएम शैलेंद्र कुमार से अनुमति मांगी है। मनी लांड्रिंग के मामले में ईडी के केस में वह निदेशालय का गवाह है। विजय हांसदा को 11 नवंबर को मुफस्सिल थाना की पुलिस ने पकड़ा था। 12 नवंबर को उसे जेल भेजा या था। उसके पास से दो राइफल व दो गोली भी बरामद की गई थी। उसके साथ उसके बेटे मनोज हांसदा को भी आरोपित बनाया गया था। इधर, इससे पहले आठ जुलाई को ईडी ने छोटू यादव का क्रशर जब्त किया था, जिसमें विजय हांसदा को गवाह बनाया था। ईडी ने कोर्ट में जो आवेदन देकर कहा है कि बीते दिनों डीआइजी का बयान देखने के बाद लगा कि विजय हांसदा से पूछताछ जरूरी है।

गौरतलब है कि इससे पहले 25 जुलाई से 29 जुलाई तक ईडी की टीम साहिबगंज में थी। इस दौरान टीम ने पंकज मिश्रा, दाहू यादव समेत अन्‍य लोगों पर शिकंजा कसते हुए उन्‍हें जेल भेजा। कई खदानें और क्रशर सील भी किए गए।

Edited By: Deepak Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट