धनबाद, जेएनएन। दुर्गोत्सव का काउंटडाउन शुरू हो चुका है। पूजा समितियां श्रद्धालुओं को आकर्षित करने के लिए कुछ अलग हटकर कर रही हैं। थीम आधारित पंडाल इस बार चलन में हैं। ऐसे में बंगाली कल्याण समिति ने प्रधानमंत्री के मिशन 'से नो टु प्लास्टिक' की थीम को चुना है। जिला परिषद में बनने वाले पूजा पंडाल में आप जैसे ही प्रवेश करेंगे, ऐसा लगेगा मानो किसी अलग संसार में आ गए हैं। यहां पेड़ पर घोषले दिखेंगे, जिससे पक्षियों के कलरव सुनाई देंगे। अलग-अलग जगहों पर खड़े मॉडल श्रद्धालुओं को जागरूक करते दिखेंगे। कहीं पर्यावरण संरक्षण, कहीं पानी बचाने तो कहीं स्वच्छता का संदेश मिलेगा। प्लास्टिक से पर्यावरण को बचाने और उससे उसके दुष्प्रभाव को अनूठे अंदाज में बयां करेंगे।

  • पंचमी से अष्टमी तक आयोजित होगा सांस्कृतिक कार्यक्रम
  • काको मठ के पुजारी मलय भट्टाचार्य करेंगे पूजा
  • षष्ठी से नवमी तक श्रद्धालुओं के लिए होगा भोग वितरण
  • समिति से जुड़े पुरुष व महिलाएं डे्रस कोड में नजर आएंगे

इनकी सक्रिय भागीदारीः अध्यक्ष डॉ. एसएस सरकार, सचिव तनमय गौण, कोषाध्यक्ष पुलक घोष, उपाध्यक्ष बीएन घोष। सदस्यों में गोपाल चट्टराज, संदीप सेन, सुजीत रंजन, दिनेश मंडल, चंडी प्रसाद, चंदन मोइत्रा, कंचन डे।

तीन से 13 तक जिला परिषद कल्याण मेला, प्लास्टिक की इंट्री नहींः पूजा समिति की ओर से इस बार जिला परिषद में कल्याण मेले का भी आयोजन किया जाएगा। तीन से 13 अक्टूबर तक आयोजित होनेवाले मेले में भी प्लास्टिक पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। स्टॉल बुक कराने को पहले ही इसकी जानकारी दी जा रही है। मेले में स्टॉल के साथ-साथ झूले भी रहेंगे। मेले से होनेवाली आमदनी सामाजिक कार्य में खर्च होगी।

Posted By: Mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप