चासनाला : पूर्व मध्य रेल धनबाद मंडल के पाथरडीह रेल कालोनी में 13 दिनों के बाद रविवार की सुबह पेयजलापूर्ति की गई। पेयजलापूर्ति के बाद रेल कर्मियों, उनके स्वजनों व स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली। पेयजलापूर्ति होने के बाद रेल कालोनी की महिलाओं व लोगों ने फोन कर दैनिक जागरण अखबार को थैंक्यू कहा। मालूम हो कि पाथरडीह रेलवे के चासनाला रिवर साइड दामोदर नदी के पास रेलवे के इंटेकवेल में मोटर, पंप के फाउंडेशन पर लगे लोहे के चैनल के जर्जर होने के कारण उसकी मरम्मत कराई गई। इस कारण 13 दिनों से पेयजलापूर्ति ठप थी।

पेयजलापूर्ति बंद होने से रेल कर्मियों व करीब 10 हजार की आबादी प्रभावित थी। रेल कर्मी डयूटी के साथ दूर से पानी ढोकर लाने व खरीदकर पीने को मजबूर थे। पाथरडीह जीआरपी कालोनी, लोको बाजार रेलवे कालोनी, अप ट्राफिक कालोनी, डाउन ट्राफिक कालोनी, मोहन बाजार, पाथरडीह रेलवे के सेंट्रल केबिन, वरीय अनुभाग अभियंता कार्य व विद्युत कार्यालय, पथ विभाग, रेलवे अस्पताल, कैरेज एंड वैगन विभाग, पाथरडीह डिपो में पानी की विकराल समस्या को लेकर दैनिक जागरण ने लगातार दो दिन एक व दो अक्टूबर को प्रमुखता के साथ समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद धनबाद रेल मंडल के वरीय डीइएन शत्रुधन प्रसाद ने रेल अधिकारियों को जल्द पेयजलापूर्ति कराने का निर्देश दिया। शनिवार की शाम इंटेकवेल के पास फाउंडेशन का निर्माण कर मोटर पंप लगाकर पानी फिल्टर हाउस लाया गया। इसके बाद कालोनियों में पानी की आपूर्ति शुरू की गई। रेल कालोनी की आरती कुमारी, चंदा देवी, सुधा देवी, अर्चना देवी ने दैनिक जागरण अखबार को धन्यवाद दिया। बताते हैं कि फिल्टर हाउस में बचे कुछ ब्लीचिग, एलम व क्लोरीन रसायन डाल फिल्टर कर पेयजलापूर्ति की गई है। जल्द सामग्री उपलब्ध नहीं कराई गई तो कालोनी में गंदे पानी की आपूर्ति से इन्कार नहीं किया जा सकता है। दामोदर नदी के पास पंप के फाउंडेशन की मरम्मत कर शनिवार को पंप लगा दिया गया है। रविवार को पेयजलापूर्ति शुरू कर दी गई है। ़िफल्टर हाउस में सामग्री व रसायन की कमी को दूर किया जाएगा। सोमवार को कर्मी भेजकर मुख्य भंडारगृह से सामग्री मंगाई जाएगी।

- जितेंद्र कुमार, वरीय अनुभाग अभियंता कार्य पाथरडीह रेल।

Edited By: Jagran