जागरण संवाददाता,

धनबाद : दुर्गापूजा के दौरान पूरे जिले में डीजे बजाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। डीजे बजाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। जहां बजता मिलेगा, वहां के थानेदार भी इसके जिम्मेवार होंगे। पंडालों में केवल एक साउंड बॉक्स ही बजाया जाएगा। उक्त बातें उपायुक्त ए दोड्डे ने शनिवार को न्यू टाउन हॉल में आयोजित जिला शांति समिति की बैठक में कहीं। उन्होंने कहा कि रात दस बजे के बाद किसी भी पंडाल में साउंड बॉक्स नहीं बजेगा।

उपायुक्त ने कहा कि क्षेत्र में जो समस्या है, उसका समाधान किया जाएगा। कतरास में नाली सफाई के लिए अतिरिक्त सफाई कर्मचारी लगाए जाएंगे। पूजा पंडालों में बिजली व अग्निशमन की समस्या का समाधान बीडीओ व सीओ प्राथमिकता के तौर पर करेंगे। डीसी ने कहा कि पूजा समितियों को किसी भी प्रकार से परेशान नहीं किया जाए। 15 अक्टूबर से नियंत्रण कक्ष कार्य प्रारंभ कर देगा। उपायुक्त ने पूजा के दौरान कम से कम एक बार क्षेत्र में पानी सप्लाई जरूर करने का आदेश दिया। बैठक में विधायक फूलचंद मंडल, सभी विभागों के अधिकारियों के अलावा सभी थानेदार, पुलिस उपाधीक्षक तथा विभिन्न पूजा समितियों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

--------------

अवैध शराब दुकानों व होटलों पर छापेमारी का आदेश : वरीय पुलिस अधीक्षक मनोज रतन चोथे ने ऐसी सभी दुकानों व होटलों में छापेमारी का आदेश दिया है, जहां अवैध रूप से शराब की बिक्री की जाती है। उन्होंने कहा कि रांची जैसी घटना न हो, इसलिए सभी थानेदार व डीएसपी सक्रिय रहेंगे। उन्होंने लोगों से अपील की कि यदि कोई समस्या होती है, तो उसके लिए थानेदार, डीएसपी अथवा अन्य वरीय अधिकारियों को फोन करने की आवश्यकता नहीं है। डायल 100 पर जानकारी दें, अतिशीघ्र मदद मिलेगी। यातायात व्यवस्था के लिए उन्होंने चिरकुंडा, कुमारधुबी और केंदुआडीह को अतिरिक्त यातायात पुलिस जवान देने का भरोसा दिया।

--------------

हाइवा बेलगाम, लाइसेंस की हो जांच : इस मौके पर विधायक राज सिन्हा ने कहा कि धनबाद की सड़कों पर चलने वाले हाइवा बेलगाम हैं। इनकी जांच आवश्यक है। कई चालकों के पास लाइसेंस भी नहीं होता। पूजा के दौरान यह सुनिश्चित किया जाए कि हाइवा कोलियरी क्षेत्रों को छोड़ मुख्य रोड पर नहीं आए। उन्होंने सभी से शांतिपूर्ण तरीके से पूजा मनाने का आग्रह किया।

----------

पूजा पंडालों के लिए निर्देश :

- पंडाल निर्माण में कम से कम ज्वलनशील पदार्थ का उपयोग हो।

- सिंथेटिक कपड़ा, थर्मोकॉल व प्लास्टिक का उपयोग कम से कम हो।

- मुख्य गेट की चौड़ाई 10 फीट और उंचाई 14 फीट हो।

- हवन कुंड की तीन मीटर परिधि में टेंट का कोई सामान ना हो।

- पंडाल के आकार के अनुरूप अग्निशमन यंत्रों की व्यवस्था की जाए।

- पंडाल से 10 मीटर की दूरी पर जनरेटर और मेन स्वीच लगाए जाएं।

- तारों की सुरक्षित टेपिंग की जाए।

- मेला क्षेत्र में दो झूलों के बीच की दूरी कम से कम चार मीटर हो।

- पंडाल के मुख्य प्रवेश द्वार और निकास द्वार पर किसी प्रकार की दुकान न लगाएं।

- हवन कुंड के पास 500 लीटर गैलन क्षमता की पानी टंकी और दो बाल्टी जरूर रखें।

----------------

स्वच्छ व बेहतर दो पंडाल को निगम करेगा पुरस्कृत। पुरस्कार पाने का आधार :

- पंडालों में सूखा और गीला कचरा रखने की अलग-अलग हो व्यवस्था।

- नीले और हरे रंग के कूडे़दान का हो उपयोग।

- ऑडियो-विजुअल स्क्रीन का किया जाए उपयोग।

- एलईडी स्क्रीन व उर्जा बचाने वाले बल्बों का हो प्रयोग।

- पॉलीथिन के उपयोग पर पाबंदी।

- महिला-पुरूष के लिए शौचालय की व्यवस्था।

- निर्धारित विसर्जन स्थान पर मूर्ति का विसर्जन किया जाए।

------------

मोबाइल फोन पर रोक की अपील : बैठक के दौरान रंगनायिका बोस ने 11 से लेकर 18 साल तक की उम्र वाले बच्चों के मोबाइल पर रोक लगाने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह काम प्रशासन के साथ-साथ अभिभावकों को करना होगा। उन्होंने कम उम्र के बच्चों के शराब पीने पर भी पाबंदी लगाने की मांग की।

Posted By: Jagran