जागरण संवाददाता धनबाद : शहर में दो सीएनजी पंप खुलने के बाद परिवहन विभाग ने यस स्पष्ट कर दिया हैं कि आने वाले छह महीनों में सभी डीजल ऑटो को सीएनजी में बदलना होगा। यानी कि जिले में अब डीजल ऑटो का रजिट्रेशन कार्य पूरी तरह से बंद हो जाएगा। आरटीए सचिव तथा परिवहन विभाग ने जनसाधारण को भी सूचित कर दिया है, कि वे शहरी क्षेत्र में परिचालन के लिए डीजल ऑटो की खरीदारी नहीं करें। आरटीए सेक्रेटरी रवि राज शर्मा द्वारा ऑटो एसोसिएशन के प्रतिनिधियों को लक्ष्य निर्धारित कर प्रतिदिन डीजल ऑटो को सीएनजी में बदलने का कार्य शुरू कर देने का निर्देश दिया है, ताकि छह महीने बाद कोई डीजल ऑटो शहरी क्षेत्र में परिचालन करते नहीं पकड़े जाएं। उन्होने शो-रूम संचालकों को भी निदेशित करते हुए कहा कि ऑटो ग्राहकों को सीएनजी ऑटो की खरीदारी के लिए प्रोत्साहित करें तथा इसके परिचालन को लेकर सरकार के निर्णय से भी ग्राहकों को अवगत कराएं।

जिला परिवहन पदाधिकारी ओम प्रकाश यादव ने सभी पेट्रोल पंप संचालकों को भी जल्द से जल्द सीएनजी आपूर्ति किट अधिष्ठापित करने का निर्देश दिया। ताकि एक बार शहर में सीएनजी ऑटो का परिचालन शुरू हो जाए तो निर्बाध तरीके से चलता रहे तथा ऑटो संचालकों को सीएनजी आपूर्ति को लेकर कोई परेशानी नहीं हो। जिला परिवहन पदाधिकारी ने बताया कि आने वाले दिनों में सरकार का प्रयास है, कि लंबी दूरी के सीएनजी बसों का भी संचालन किया जाए, इस दिशा में नेशनल हाईवे के पेट्रोल पंप संचालकों को भी सीएनजी किट अधिष्ठापन का निर्देश दिया गया है ताकि सीएनजी बसों के परिचालन में कोई समस्या नहीं आए। डीटीओ ने बताया कि फिलहाल जिले में दो सीएनजी पंप खुल गया है वही तीन और सीएनजी के पंप खुलने हैं। जिसकी प्रक्रिया चल रही है। बताते चलें कि जिले में करीब 20 हजार ऑटो का परिचालन होता है।

Edited By: Atul Singh