बोकारो: अति संवेदनशील व संवेदनशील मतदान केंद्रों की निगरानी के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी। इस बार पुलिस कंट्रोल रूम की जगह उपायुक्त कार्यालय के सभागार व कार्यालय कक्ष को ही कंट्रोल रूम बनाया गया था। यहीं पर डीसी एसपी बैठकर जिले भर के मतदान केन्द्रों की निगरानी कर रहे थे। कुल 184 मतदान केंद्रों की निगरानी 883 कैमरे से की जा रही थी। एसपी वायरलेस से लेकर मोबाइल फोन से लगातार नक्सल प्रभावित इलाकों में चल रहे अभियान से लेकर अन्य गतिविधियों पर बात कर निर्देश दे रहे थे। जिला निर्वाची पदाधिकारी सह उपायुक्त के मोबाइल पर कई ऐसे मतदाताओं की शिकायत पहुंची जो वोटर लिस्ट से नाम कटने से परेशान थे। ऐसे ही एक मतदाता ने शिकायत की कि सर मैं जिस आवास में रहता था वहां आज भी रह रहा हूं। इसके बाद भी मेरा नाम वोटर लिस्ट से बीएलओ ने काट दिया। उपायुक्त ने कहा अगर बीएलओ ने ऐसा जानबूझकर किया है तो इसकी लिखित शिकायत पर चुनाव के बाद करें। निश्चित तौर पर जांच कर ऐसे मामलों में नियम संगत कार्रवाई होगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस