जागरण संवाददाता, धनबाद। बैंक मोड़ ओवरब्रिज के लोड टेस्टिंग के कारण रांगाटांड़ गया पुल पर ट्रैफिक का दबाव आम दिनों की तुलना में 95 फीसद तक कम है। सिर्फ नया बाजार, वासेपुर और भूली की ओर जानेवाली गाड़ियां ही चल रही हैं। कम ट्रैफिक को देख रेलवे ने भी गया पुल का मेंटेनेंस शुरू करा दिया है। एक ओर से ट्रैफिक ब्लाक लेकर पुल की मरम्मत कराई जा रही है। इंजीनियरिंग विभाग की टीम रेलवे ट्रैक के नीचे की सफाई कर रही है। बेकार हो चुके लोहे के चदरे को भी बदला जा रहा है। विभागीय अधिकारी कह रहे हैं कि लंबे समय से पुल के निचले हिस्से का मेंटेनेंस नहीं हो सका था क्याेंकि इसके लिए ट्रैफिक ब्लाक की जरूरत पड़ती। अब बिना किसी परेशानी के ही कुछ घंटे में पुल की मरम्मत पूरी कर ली जाएगी। इससे पुल की लाइफ बढ़ जाएगी।

अगस्त में हो चुका हादसा, टूटकर गिरा था चदरा

सात अगस्त को गया पुल के नीचे लोहे का जर्जर चदरा टूटकर यात्री बस के ऊपर गिरा था। दोपहिया सवार हादसे का शिकार होने से बचे थे। इससे कुछ देर के लिए गाड़ियाें का आवागमन भी रुक गया था। उस दौरान भी रेलवे ने पुल के निचले हिस्से की मरम्मत कराई थी। अब एक बार फिर जर्जर हिस्से को हटाकर नये चदरे लगा जा रहे हैं।

पुल पर हावड़ा-नई दिल्ली की ट्रेनों का दबाव, दर्जनों मालगाड़ियां भी

1906 में अस्तित्व में आए हावड़ा-नई दिल्ली ग्रैंड कार्ड लाइन पर बने गया पुल पर ट्रेनों का अत्यधिक दबाव है। हावड़ा से नई दिल्ली, मुंबई समेत देश के बड़े हिस्से तक पहुंचने की वाली ज्यादातर ट्रेनें इसी रूट पर हैं। साथ ही प्रतिदिन दर्जनों मालगाड़ियां भी चलती हैं। इसके साथ ही धनबाद शहर को जोड़ने समेत बोकरो और रांची को सड़क मार्ग से जोड़ने वाला भी गया पुल ही है। बाधारहित आवागमन बना रहे इसके लिए पुल को दुरुस्त किया जा रहा है।

Edited By: Mritunjay