धनबाद, जेएनएन। Dhanbad Land Scam सरायढेला के आमाघाटा मौजा में मृत अनंतदेव चंद्रा की जगह एक दूसरे व्यक्ति को खड़ा कर 28.5 कठ्ठा जमीन बेचने के मामले की पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। जांच में यह बात सामने आयी है कि जमीन खरीद बिक्री के लिए जालसाजों ने पांच डीड तैयार कराए थे। ये सभी फर्जी हैं। जांच में यह पता चला है कि आरोपित नीरज कुमार सिंह ने अपने भाई धीरज कुमार सिंह के नाम पर डीड संख्या 1641 व 5548 बनाया था। पुतुल कुमारी को रैयत का वारिश बताया गया और भोला साव के नाम पर पाॅवर ऑफ एटॉर्नी तैयार किया गया। इसके साथ एक डीड संख्या 2818 बनाया गया। भोला साव ने श्रद्धा केसरी के साथ मिलकर एक अलग डीड संख्या 2819 तैयार किया। इसी प्रकार से शारदा भूषण के नाम से डीउ संख्या 2244 और विभा देवी के नाम से डीड संख्या 283 बनाया गया। जांच में यह बात पता चली की यह सभी डीड फर्जी हैं। इन सभी का सत्यापन भूमि निबंधन विभाग से कराया गया है।

खरीदार को दो बार मिली जान मारने की धमकी

जमीन खरीदने वाले उदय कुमार गुप्ता ने जब इस जमीन की रजिस्ट्री करने को लेकर आरोपितों पर दवाब बनाया तो उन्हें दो बार जान मारने की धमकी दी गई। पहली घटना तीन अप्रैल को स्टील गेट में घटी और दूसरी बार 11 अप्रैल को इन्हें घेर कर धमकी दी गई। सारी स्थिति को देखते हुए उदय कुमार गुप्ता ने मामले की प्राथमिकी दर्ज करायी।

दस लोगों को बनाया गया आरोपित

इस मामले में उदय कुमार गुप्ता ने दस लोगों को आरोपित बनाया है। इसमें कोलाकुसमा निवासी नीरज कुमार सिंह व इनका भाई धीरज कुमार सिंह, बरवाअड्डा निवासी अजय कुमार मिश्रा, सुगियाडीह निवासी गौतम मिश्रा, मधुबन निवासी भोला साव, फतेहपुर निवासी राजेश साव, झरिया निवासी श्रद्धा केसरी, अहमदाबाद गुजरात निवासी शारदा भूषण और जेसी मल्लिक रोड़ निवासी विभा देवी को आरोपित बनाया गया है। इसके अलावा एक वह व्यक्ति भी शामिल है जिसे मृतक अनंतदेवा चंद्रा के रूप में उपस्थित किया गया। पुलिस इन सभी आरोपितों की तलाश कर रही है।