जागरण संवाददाता, धनबाद: पुराने मामले के फरार सभी वारंटियो की धरपकड़ एक बार फिर से शुरू हो चुकी है पुलिस मुख्यालय के आदेशानुसार वैसे वारंटी जो पिछले पांच वर्षों से पुलिस की नजर से बच रहे थे, अब उन्हें ढूंढा जा रहा है। जिले के सभी थाना के दारोगा जमादार को पुराने मामले के वारंटियों की धरपकड़ के लिए लगाया गया है। खासकर वैसे वारंटी जो पुलिस के संपर्क में रहे हैं, थाना स्तर से सेटिंग ग्रीटिंग कर खुलेआम घूमते हैं, उन वारंटियों की खोजबीन शुरू हो गई है। पूरे जिले में वारंटियों की धरपकड़ के लिए स्पेशल ड्राइव के तहत अभियान चलाने का आदेश एसएसपी ने जारी किया है।

पुराने मामलों के निष्पादन के लिए टीम बनाई गई है। इंस्पेक्टर व डीएसपी को इसका प्रभार सौंपा गया है। ऐसे तो यह आदेश पूर्व में भी पुलिस मुख्यालय ने जारी किया था। कुछ दिनों तक पुलिस सक्रिय हुई थी फिर शांत हो गई थी। हालांकि उस दौरान भी जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र से सैकड़ों मामले का निष्पादन हुआ था। महत्वपूर्ण बात है कि धनबाद में सैकड़ों की संख्या में पुराने केस अब भी लंबित है। पुलिस सूत्रों के अनुसार कुछ केस की फाइल पुलिस ढूंढ़ रही, जिले में कुछ केस अनुसंधानकर्ता द्वारा प्रभार नहीं देने के कारण मामला लंबित है, दरअसल 5 वर्ष पूर्व दरोगा जी अनुसंधानकर्ता थे। लेकिन जब उनका तबादला दूसरे जिला हो गया तो वह केस का चार्ज किसी को नहीं सौंपे बल्कि फाइल भी कहां किसको दिया है यह जानकारी नहीं है। इसी तरह के मामले को पुलिस ढूंढ़ रही है। अभियुक्तों के सत्यापन नहीं होने तथा कुछ में अनुसंधानकर्ता द्वारा डायरी तक नहीं लिखने के कारण भी केस लंबित है। वैसे तमाम मामलों की सूची तैयार की गई है। लंबित कांडों की समीक्षा के बाद दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई भी तय माना जा रहा है।

Edited By: Atul Singh