जागरण संवाददाता, झरिया: आप अगर आंख की बीमारी मोतियाबिंद से पीड़ित हैं। आपके पास मोतियाबिन्द के आपरेशन को पैसे नहीं हैं तो चिंता की कोई बात नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मोतियाबिंद पीड़ितों का निश्शुल्क आपरेशन कराया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जून माह को मलेरिया रोधी महीने के रूप में मनाया जा रहा है। इस बाबत वेक्टर जनित रोगों के अलावा मोतियाबिंद से कोयलांचल को मुक्त करने के लिए जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है।

झरिया कोयलांचल में जगह- जगह जागरूकता कार्यक्रम किए जा रहे हैं। मलेरिया विभाग के कर्मी दिलीप कुमार की ओर से कलस्टर और स्कूलों में प्रशिक्षण कार्यक्रम किए जा रहे हैं। एएनएम, एमपीडब्ल्यू, सहिया, सीएचओ को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। डॉ दिलीप कुमार ने कहा कि सभी सहिया को अभियान की सफलता के लिए घर-घर जाकर मोतियाबिंद के मरीजों की खोज करनी है। सहिया मोतियाबिंद के मरीजों को खोज कर उसकी जानकारी एएनएम को देगी। एएनएम कम्युनिटी हेल्थ आफिसर को इसकी जानकारी देगी। इसके बाद सीएचसी में नेत्र सहायक रिपोर्ट बनाकर सिविल सर्जन धनबाद को प्रेषित करेंगे। इसके बाद मोतियाबिंद पीड़ितों का इलाज निश्शुल्क किया जाएगा।

 मोतियाबिंद पीड़ितों का होगा निश्शुल्क इलाज

मलेरिया विभाग के डॉ दिलीप ने कहा कि मोतियाबिंद पीड़ित के पास अगर आयुष्मान कार्ड नहीं हैं तो भी उनका इलाज निश्शुल्क जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से धनबाद स्थित एसएनएमएमसीएच में कराया जाएगा। डॉ दिलीप ने कहा कि भागा क्लस्टर में सहियाओं को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। सहिया घर-घर मोतियाबिंद मरीजों की स्क्रीनिंग में लगी हैं। झरिया कोयला क्षेत्र के अन्य क्षेत्रों में भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मोतियाबिंद से पीड़ित लोग इस सरकारी सुविधा का लाभ लेने के लिए अपने घर के आसपास के सहिया से भी संपर्क कर अपना नाम रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। या फिर मरीज अपना नाम, पूरा पता, मोबाइल नंबर के साथ 9835112182 पर व्हाट्सएप भी कर सकते हैं। मोतियाबिंद की स्क्रीनिंग टीम मरीज के घर पहुंचकर जांच करेगी। मरीज के मोतियाबिंद होने पर उनकी आंख का निश्शुल्क आपरेशन करवाया जाएगा।

Edited By: Atul Singh