जागरण संवाददाता, चिरकुंडा: चिरकुंडा-पंचेत रोड स्थित मुख्य मार्ग पर स्थित राम भरोसा धाम में गुरुवार से सात दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान सह प्राण प्रतिष्ठा समारोह का शुभारंभ हो गया। इसके पहले विशाल कलश शोभा यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा में 509 महिलाएं कतारबद्ध होकर चल रही थीं। यह कलश यात्रा मंदिर प्रांगण से शुरू हुई और कापासारा, सुंदरनगर होते हुए बराकर नदी स्थित छठ घाट पर पहुंची। जहां पर महिलाओं ने जल भरकर लायंस क्लब अस्पताल होते हुए मंदिर पहुंची। कलश यात्रा में शामिल लोग जय माता दी,जय श्रीराम, हर-हर महादेव आदि नारे लगा रहे थे। इससे इलाके का माहौल भक्तिमय हो गया था। इस संबध में मंदिर के पुजारी पं रामरतन पाण्डेय ने बताया कि आज कलश यात्रा के साथ ही अनुष्ठान प्रारंभ हो गया। एक जुलाई से चार जुलाई तक 16 अधिवासों को पूर्ण किया जाएगा व पांच जुलाई को नगर भ्रमण किया जाएगा।

छह जुलाई को प्रतिष्ठापित मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। वैदिक मंत्रोच्चार के साथ योग्य आचार्य की टीम देवघर के आचार्य एकानंद पाण्डेय के पांच सदस्यीय टीम वैदिक मंत्रोच्चार का पाठ करेगें। कलश यात्रा को सफल बनाने में मंदिर के गिरधारी लाल चौधरी,आन्नदो गोराई, शंभु चौधरी, सागर दरिप्पा, किशन साव, संजय साव, विजय साव, सुरेन्द्र प्रसाद, जयलाल साव, वृन्दावन चौधरी, सुरेश अग्रवाल, हरिहर केशरी आदि शामिल थे। इधर काफी दिनों के बाद चिरकुंडा इलाके में धार्मिक कार्यक्रम शुरू होने से यहां धार्मिक वातावरण देखा जा रहा है। स्थानीय लोग काफी खुश दिख रहे हैं। उनका मानना है कि इस तरह के धार्मिक कार्यक्रम होने से मन को शांति मिलती है।

Edited By: Atul Singh