जागरण व‍िध‍िसंवाददाता, धनबाद : धनबाद पुलिस के वरीय अधिकारी ने मुझे जान मारने की धमकी दी है जबरन मुझसे दर्जनों सादे कागजातों पर पूर्व में हस्ताक्षर करा लिया है। रात भर सोने नहीं दिया मेरे शरीर में कई जगहों पर करंट लगाए गए हैं ।और फिर पुलिस मुझे रिमांड पर ले जा रही है। इस बार पुलिस मुझे जिंदा नहीं छोड़ेगी। जेल में आकर पुलिस के अधिकारियों ने एनकाउंटर करने की धमकी दी है।मुझे सुरक्षा दिया जाए उपरोक्त बातें मंगलवार को रिमांड पर ले जाने से पूर्व मुथूट फिनकॉर्प डाका कांड में रंगे हाथ धराए राहुल उर्फ राघव एवं आसिफ अली की ओर से अधिवक्ता मोहम्मद जावेद ने अदालत में कही। अधिवक्ता मोहम्मद जावेद ने आवेदन देकर कहा कि पुलिस इन दोनों आरोपियों बेवजह परेशान कर रही है। लगातार उसे प्रताड़ित किया गया है ।और विभिन्न मुकदमों में अपनी संलिप्तता स्वीकार करने के लिए दबाव बना रही है।

जबरन उनसे की कागजातों पर दस्तखत करा लिया है ।6 दिनों तक पूर्व में रिमांड में रखने के बाद भी पुलिस के पास पूछने के लिए कुछ नहीं बचा था बावजूद इसके पुलिस दोनों आरोपियों को परेशान कर रही है। जो भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त अधिकारों का उल्लंघन है। प्लीज सुनने के बाद प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी एके इंदवार की अदालत ने पुलिस को आदेश दिया है कि अभियुक्तों को पर्याप्त सुरक्षा दी जाए उन पर थर्ड डिग्री टॉर्चर का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

पूछताछ की पूरी कार्यवाही के दौरान उन्हें चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराई जाए। बताते हैं कि सोमवार को पुलिस के आवेदन पर अदालत ने दोनों आरोपियों को 4 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश जेल प्रशासन को दिया था पुलिस ने अबकी बार दोनों को गुंजन ज्वेलर्स डाका कांड में पूछताछ के लिए अपनी हिरासत में आज लिया है । इसके पूर्व मुथूट फिनकॉर्प ढाका कांड में पुलिस ने दोनों को 6 दिनों की हिरासत में 13 सितंबर 22 को लिया था।

Edited By: Atul Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट