धनबाद, जेएनएन। हालांकि अब तक धनबाद में कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के नए स्ट्रेन नहीं मिले हैं। लेकिन ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन मिलने के बाद भारत भी अलर्ट है। सभी जिला प्रशासनों को आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके मद्देनजर धनबाद जिला प्रशासन भी सक्रिय हो गया है। कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के लिए होम आइसोलेशन के निमयों में बदलाव किए गए हैं।

35 वर्ष से अधिक उम्र को होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं

35 वर्ष से अधिक उम्र के कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति को अब होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं मिलेगी। यह निर्देश उपायुक्त सह जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार के अध्यक्ष उमाशंकर सिंह ने दिया है। उपायुक्त ने सोमवार को Covid-19 पॉजिटिव मरीजों के इलाज की समीक्षा की। इस दाैरान उन्होंने होम आइसोलेशन के बाबत दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा 35 वर्ष से कम उम्र के कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति को होम आइसोलेशन की अनुमति कोविड-19 के नियमों एवं शर्तों का पालन करने के पश्चात ही प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमितों का मृत्यु दर कम करने के लिए लाइन ऑफ ट्रीटमेंट का अक्षरशः पालन करना है। कांटेक्ट ट्रेसिंग को भी गति प्रदान करनी होगी। जब तक यह वैश्विक महामारी आपदा घोषित है तब तक किसी प्रकार की शिथिलता घातक साबित हो सकती है।

शव के लिए परिजनों को दो दिन करना होगा इंतजार

कोविड-19 संक्रमित की मृत्यु होने पर शव को लेने के लिए उनके परिजनों के आने का 2 दिनों तक जिला प्रशासन इंतजार करेगा। 2 दिन तक परिजन के नहीं आने पर जिला प्रशासन पूरे रीति रिवाज के साथ शव का अंतिम संस्कार करेगा। अंतिम संस्कार के लिए अनुमंडल दंडाधिकारी नोडल पदाधिकारी होंगे। वे स्थानीय प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी एवं थाना प्रभारी के सहयोग से पूरे रीति रिवाज के साथ शव का अंतिम संस्कार संपन्न कराएंगे।

बैठक में उपस्थित

अपर समाहर्ता श्याम नारायण राम, अनुमंडल दंडाधिकारी सुरेंद्र कुमार, सिविल सर्जन डॉ. गोपाल दास, डॉ. राजकुमार सिंह, कार्यपालक दंडाधिकारी अमर प्रसाद, संजय कुमार झा, डीएमएफटी ऑफिसर शुभम सिंघल, नितिन कुमार, डॉ. यूके ओझा एवं अन्य लोग उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप