जागरण संवाददाता, धनबाद: साइबर क्राइम करने वाले अपराधियों ने एक और नया ट्रेंड शुरू किया है। जिसमें अब लड़कियों को पार्टनर बनाया है। साइबर क्राइम के संगठित गिरोह में शामिल युवती फेसबुक इंस्टाग्राम समेत विभिन्न इंटरनेट मीडिया के जरिए लोगों के व्हाट्सएप से जुड़ती है और फिर व्हाट्सएप की डीपी पर खूबसूरत लड़कियों की तस्वीर लगा कर चैटिंग शुरू कर देती है। पहले तो हाय, हेलो से शुरू होती है फिर चैटिंग के जरिए ऑनलाइन अनैतिक कार्य का ऑफर करती है। जो व्यक्ति युवती की सुंदर तस्वीर देख उसके लुभावने ऑफर को स्वीकार कर लेते हैं। उसके साथ बुरा होता है, साइबर क्राइम में शामिल युवती ऑनलाइन अनैतिक कार्य के लिए ऑफर देती है। फिर अगला व्यक्ति जब उसके ऑफर को स्वीकार कर कुछ ऐसी अनैतिक हरकत कर देता है, तो उस व्यक्ति का स्क्रीनशॉट लेकर युवती रख लेती है।

फिर बाद में उसे रुपये की मांग करती है, जो व्यक्ति रुपए देने से इनकार करता है उसे धमकी दी जाती है कि उसका अश्लील स्क्रीनशॉट इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर देगी या फिर उसके परिवार वालों के नंबर पर चैटिंग की अश्लील तस्वीर भेजने की भी धमकी देती है। साइबर अपराधियों द्वारा इस तरह से ब्लैकमलिंग करने के कई मामले हाल के दिनों में सामने आए हैं। हालांकि ऐसे मामलों में भुक्तभोगी थाना जाने से भी परहेज करते हैं। बरटांड तथा बिशुनपुर में रहनेवाले दो व्यक्ति को इस तरह का ऑफर आया था और वह लड़कियों के जाल में फंस गए थे। फिर बाद में काफी मशक्कत के बाद किसी प्रकार से नंबर ब्लॉक कर ठगी करनेवाले उस गैंग से पीछा छुड़ाया। इसी तरह सराय ढेला इलाके में भी आशीष नामक एक युवक के साथ इस तरह का मामला आया था। भुक्तभोगी शख्स ने विश्वास में आपबीती सुनाई और बगैर उसका नाम छापे आम लोगों को ऐसे शातिर युवतियों से अलर्ट करने के लिए दैनिक जागरण से अपील की।

Edited By: Atul Singh