धनबाद, जेएनएन। Dhanbad Coronavirus News Update स्वास्थ्य विभाग मुख्यालय रांची से धनबाद को 2250 रैपिड टेस्ट किट भेजी गई है। मुख्यालय के निर्देश पर उच्च संक्रमण वाले मरीज की जांच प्राथमिकता के तौर पर की जाएगी। 3 दिनों से किट की कमी की वजह से ट्रूनेट मशीन और आरटी पीसीआर मशीन से जांच हो रही थी। मरीजों की रिपोर्ट के लिए  2 से 4 दिनों का इंतजार करना पड़ रहा था।

रैपिड टेस्ट किट देने के साथ ही मुख्यालय की ओर से जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। बता दें कि रैपिड टेस्ट किट से आधे घंटे के अंदर रिपोर्ट आ जाती है। धनबाद जिले में संक्रमित सक्रिय मरीजों की संख्या 300 के ऊपर है। उनके संपर्क में आने वाले लोगों की जांच प्राथमिकता के तौर पर करने का निर्देश है। किट खत्म होने के बाद 9 अगस्त को मुख्यालय से इसकी मांग की गई थी। आज किट धनबाद पहुंची है।

आरटी पीसीआर जांच में लंबी लाइन

पीएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी विभाग के आरटी पीसीआर मशीन जांच के लिए लंबी लाइन है। मरीजों को तीन से चार दिनों का इंतजार करना पड़ रहा है। ऐसे स्वास्थ्य विभाग संपर्क में आने वाले मरीजों को रैपिड किट जांच करना बेहतर समझ रहा है। मुख्यालय ने भी ऐसे मरीजों को तत्काल जांच कर आगे की कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। माइक्रोबायोलॉजी विभाग में हर दिन 1200-1500 सैंपल आ रहे हैं। जबकि रिपोर्ट मात्र चार से पांच सौ जारी हो रही है. 

 

निजी जांच घर में सैंपल के लिए भी इंतजार

सरकारी व्यवस्था लचर होने की वजह से कई लोग निजी जांच घर की ओर जा रहे हैं। धनबाद में पैथ काइंड को राज्य सरकार की ओर से मान्यता मिली है। लेकिन यहां भी अब 2 से 3 दिनों का इंतजार करना पड़ रहा है। सैंपल देने के लिए भी मरीज इंतजार कर रहे हैं। 

 

मुख्यालय की ओर से रैपिड किट आई  है। जांच में हाई रिस्क में आने वाले लोगों की प्राथमिकता है। बाहर से आने वाले लोग अपनी जानकारी विभाग को जरूर दें।  

-डॉ. गोपाल दास, सिविल सर्जन, धनबाद।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप