जासं, झरिया-भौंरा: कुछ दिन धनबाद के एसएनएमएमसीएच से लापता बीसीसीएल के ईजे एरिया के कर्मी 55 वर्षीय लखी राम मांझी सोमवार की सुबह भौंरा रेलवे स्टेशन के पास चोटिल अवस्था में मिला। लखी राम के गांव में रहने वाले एक युवक ने सुबह में उन्हें देखा। उसके बाद उनके स्वजनों को इसकी जानकारी दी। स्वजन मौके पर पहुंचकर उन्हें घर लेकर आए। उसके बाद उन्हें लेकर गांव भोजूडीह इलाज कराने के लिए चले गए। मालूम हो कि लखी को कोलियरी प्रबंधन ने कुछ दिन पूर्व बाघमारा में पंचायत चुनाव ड्यूटी के लिए भेजा था। वहां उनकी तबीयत अचानक खराब होने का बाद उन्हें एसएनएमएमसीएच अस्पताल धनबाद में भर्ती कराया गया था। अस्पताल से लखी रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था।

इसके बाद सरायढेला थाना पुलिस और ईजे एरिया के अधिकारी परेशान हो गए। लखी राम की पत्नी सरस्वती देवी ने ईजे एरिया प्रबंधन और सरायढेला थाना पुलिस को घटना की जानकारी देकर पति की खोजबीन करने की मांग की। पत्नी ने ईजे एरिया प्रबंधन पर मानसिक रूप से बीमार पति लखी राम को जबरन चुनाव ड्यूटी में भेजने का आरोप लगाया था। बताते हैं कि फिलहाल लखी राम कुछ भी ठीक से बता पाने में असमर्थ है। उनके सिर, हाथ व अन्य जगह पर चोट के निशान हैं। लखी राम बोकारो जिला के भोजूडीह क्षेत्र का रहने वाला है।

Edited By: Atul Singh