जागरण संवाददाता, धनबाद :  छात्रों के पैसों की बर्बादी बंद करो, वर्षों से लंबित अनुबंध शिक्षकों की बहाली जल्द करो, प्राइवेट बीएड कॉलेज की मनमानी पर रोक लगाओ, पुस्तकालयों में जरूरी किताबें उपलब्ध कराओ। तख्तियों पर इन नारों के साथ हाथों में काले झंडे और काले कपड़े पहन कर आजसू छात्र संगठन से जुड़े छात्र केंद्रीय खनन एवं इंधन अनुसंधान संस्थान सिंफर पहुंचे। छात्रों ने आयोजन स्थल पर जाकर काला झंडा दिखाकर विरोध करने की कोशिश की , पर संस्थान के सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया। इसके बाद छात्र सिंफर के मेन गेट पर कतार में खड़े हो गए और बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

नेतृत्व कर रहे आजसू छात्र संघ विश्वविद्यालय अध्यक्ष विशाल महतो ने कहा कि छात्र हित से जुड़े अब तक कोई काम विश्वविद्यालय में नहीं हो सके हैं। कॉलेजों में शिक्षकों की भारी कमी है। कई कॉलेज ऐसे हैं जहां बिना शिक्षक के ही विभाग चल रहे हैं। विश्वविद्यालय ने कई वर्ष पहले ही मानदेय पर शिक्षक बहाल करने की घोषणा की थी। इसके लिए बड़े पैमाने पर आवेदन भी लिए गए थे। लंबा समय बीत जाने के बाद भी अब तक मानदेय पर शिक्षक बहाली शुरू नहीं हो सकी है। विश्वविद्यालय मुख्यालय का अपना भवन अब तक तैयार नहीं हुआ है। पीजी विभागों की पढ़ाई जैसे तैसे हो रही है।

प्रयोगशाला और पुस्तकालय अपडेट नहीं है। पुस्तकालयों में छात्रों के पठन-पाठन योग्य जरूरी किताबें नहीं है। बीएड कॉलेजों की मनमानी जारी है। मनमाना शुल्क लेकर एडमिशन कर रहे हैं। ऐसी तमाम छात्र हित से जुड़े कार्य को छोड़कर पूरा विश्वविद्यालय प्रशासन राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन में लगा है। इसके विरोध में आज छात्र सड़क पर उतरे हैं। फूलचंद महतो, मधुसूदन महथा, दिनेश महतो, विकास कुमार, दिनेश दास समेत अन्य शामिल थे।

Edited By: Atul Singh