गिरिडीह, जेएनएन। एंटी करप्शन ब्यूरो ( एसीबी ) धनबाद की टीम ने गुरुवार को गिरिडीह सदर प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित तहसील कचहरी पर छापेमारी कर हल्का कर्मचारी संजय चौधरी को 3500 रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोच लिया। करहरबारी निवासी सुरेश साव से वह रिश्वत ले रहा था। पूछताछ के बाद एसीबी की टीम उसे अपने साथ धनबाद ले गई। एसीबी के अधिकारी उस दौड़ाते हुए अपनी गाड़ी तक ले गई। इस कार्रवाई से हड़कंप मच गया है।

सुरेश साव ने अपनी जमीन का लैंड पॉजिशन सर्टिफिकेट(एलपीसी) कराने  कर्मचारी के पास आवेदन दिया था। कर्मचारी ने इसके लिए दस हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। दो चक्र की बातचीत के बाद 3500 रुपए पर कर्मचारी काम करने तैयार हो गया। इसके बाद सुरेश साव ने एसीबी के धनबाद कार्यालय जाकर इसकी शिकायत की। एसीबी ने जांच की तो मामला सही पाया। इसके बाद एसीबी ने प्राथमिकी दर्ज कर रंगे हाथ गिरफ्तार करने की योजना बनाई। गुरुवार को दोपहर करीब बारह बजे योजना के तहत सुरेश साव रिश्वत देने तहसील कार्यालय पहुंचा। जैसे ही उसने रिश्वत की राशि दी, सादे लिबास में वहां पहले से मौजूद एसीबी के अधिकारियों ने उसे दबोच लिया। एसीबी की इस कार्रवाई से वहां अफरा-तफरी मच गया।

छापामारी का नेतृत्व डीएसपी अशोक कुमार ने किया। उनके साथ इंस्पेक्टर जुल्फीकार, केएन सिंह थे। राजस्व कर्मचारी को धनबाद एसीबी लाकर पूछताछ की जा रही है। पूछताछ के बाद भेज भेजा जाएगा। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस