जागरण संवाददाता, धनबाद: शहीद निर्मल महतो मेमोरियल कॉलेज एवं अस्पताल में मलेरिया और डेंगू की जांच शुरू हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रविवार को अस्पताल का निरीक्षण करके जांच व्यवस्था शुरू कराई। कोरोना संक्रमण काल के कारण पिछले 1 वर्ष से मेडिकल कॉलेज में मलेरिया और डेंगू की जांच नहीं हो पा रही थी। मलेरिया जांच की मशीन को ब्लड बैंक में स्थापित कर दिया गया था। यहां इस मशीन से  प्लाज्मा थेरेपी की जांच की जा रही थी। अब संक्रमण के मामले कम होने के बाद इस मशीन को पूरा माइक्रोबायोलॉजी में मलेरिया और डेंगू की जांच के लिए स्थापित किया गया। 

संदिग्ध मरीजों की अस्पताल में होगी जांच

जिला मलेरिया सलाहकार रमेश कुमार सिंह ने बताया कि अस्पताल में आने वाले संदिग्ध मरीजों की अब हर दिन जाम की व्यवस्था यहां की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इसके लिए अलग से एलाइजा किट अस्पताल प्रबंधन को दिया गया है। उन्होंने बताया कि वायरल संक्रमण के कारण जिले में बुखार के मरीज मिल रहे हैं। ऐसे मरीजों को अब यहां पर आसानी से की जा सकती है। इसके लिए अस्पताल प्रबंधन को निर्देश दिए गए हैं। 

वायरल बुखार के दो और बच्चे मिले

ग्रामीण इलाकों में वायरल बुखार हर दिन बढ़ता दिख रहा है। गोविंदपुर और गिरिडीह के बाद और बच्चे बुखार से पीड़ित पाए गए हैं। यह बच्चे गोविंदपुरा और टुंडी के क्षेत्र के बताए जा रहे हैं। इन दोनों बच्चों को स्वास्थ्य विभाग की ओर से शिशु रोग विभाग में भर्ती कराया गया है। बच्चे की निगरानी शिशु रोग विभाग के चिकित्सक कर रहे हैं। चिकित्सकों का कहना है वायरल संक्रमण के असर होने के कारण बुखार तेजी से बढ़ रहा है। फिलहाल बच्चों पर नजर रखी जा रही है।

Edited By: Atul Singh