धनबाद, जेएनएन। पीएमसीएच धनबाद में कोरोना वायरस की जांच का डेमो शुरू हो गया है। दो-तीन दिन में फाइनल जांच होने लगेगी। इसके बाद कोरोना वायरस जांच के लिए सैंपल रांची और जमशेदपुर नहीं भेजना पड़ेगा। धनबाद में ही जांच होगी और तुंरत रिपोर्ट मिल जाएगी। 

पीएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी में डेमो के दूसरे दिन पांच संदिग्ध कोरोना वायरस मरीजों का सैंपल लिया गया। इन सैंपल की जांच नए मशीन में डालकर शुरू की गई। रांची से आए एक्सपर्ट कमेटी की टीम में पीएमसीएच के डॉक्टरों को सैंपल हैंडलिंग, केमिकल का मिलान, वायरस की जांच आदि की जानकारी दी। मुख्य रूप से प्राचार्य डॉ. शैलेंद्र कुमार और माइक्रोबायोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. बी के सिंह मौजूद थे।

प्राचार्य डॉ शैलेंद्र कुमार ने बताया कि फिलहाल डेमो की प्रक्रिया चल रही है। डेमो के बाद विभाग के डॉक्टर बताएंगे कि उन्हें क्या परेशानी हो रही है, या क्या कमियां रह गई हैं। जिसे एक-दो दिन में पूरी कर ली जाएगी। कोशिश हो रही है कि शनिवार तक पीएमसीएच में कोरोना वायरस की जांच शुरू कर दी जाए। सरकार की ओर से तमाम सुविधाएं और मैन पावर उपलब्ध करा दी गई है। प्रबंधन भी लगातार कोशिश कर रहा है।

क्रॉस चेक के लिए दो जगह भेजे गए सैंपल

गुरुवार को सदर अस्पताल से 5 लोगों का सैंपल लिया गया है। क्रॉस चेक के लिए यह सैंपल दो जगहों पर भेजा गया है। एक सैंपल एमजीएम मेडिकल कॉलेज जमशेदपुर भेजा गया है और दूसरा सैंपल पीएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी में लाया गया है।

माइक्रोबायोलॉजी विभाग में डॉक्टरों और कर्मचारियों ने दिया योगदान

माइक्रोबायोलॉजी में कोरोना वायरस की जांच शुरू करने से पहले स्वास्थ विभाग ने डॉक्टर और 2 लैब टेक्नीशियन को यहां प्रतिनियुक्त किया है। गुरुवार को डॉक्टर और लैब टेक्नीशियन ने योगदान दिया। डेमो प्रशिक्षण में यह लोग भी शामिल हुए।

1 दिन में 70 सैंपल जांच करने की क्षमता

माइक्रोबायोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.वीके सिंह ने बताया कि 1 दिन में यह मशीन 70 लोगों का सैंपल जांच कर सकती है। हालांकि इसके लिए अभी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। केंद्र और राज्य सरकार लगातार इसकी मॉनिटरिंग भी कर रही है। यहां पर पीएमसीएच के डॉक्टरों और कर्मचारियों का रोस्टर भी तैयार कर दिया गया है।

धनबाद से हर दिन औसतन 20 की जांच

धनबाद से हर दिन लगभग 20 कोरोना वायरस संक्रमण का सैंपल लिया जा रहा है। इसे जमशेदपुर और रांची ओर आम लोगों को राहत मिलेगी तो दूसरी ओर डॉक्टरों और कर्मचारियों का समय बचेगा। रिपोर्ट भी 6 से 7 घंटे में मिल जाएगी।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस