धनबाद, जेएनएन। धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर कांग्रेस नेता नीरज सिंह समेत चार की हत्या के बाद रघुकुल (नीरज का घर) और सिंह मैंशन (विधायक संजीव सिंह का घर) के बीच जारी कानूनी लड़ाई अब सोशल मीडिया में पहुंच गई है। सोशल मीडिया को हथियार बनाकर वार किया जा रहा है। इसके लेकर दिवंगत नीरज सिंह के माैसेर भाई हर्ष सिंह के खिलाफ जनता मजदूर संघ एरिया चौक कुंडा के अध्यक्ष अमरनाथ सिंह ने मानहानि का मुकदमा अदालत में दायर किया है। अमरनाथ के अधिवक्ता मो. जावेद ने बताया कि मुकदमे पर 4 सितंबर को सुनवाई होगी।

21 मार्च 2017 को नीरज सिंह की हत्या के बाद विधायक संजीव सिंह जेल में हैं। इससे 2014 के विधानसभा चुनाव में संजीव और नीरज झरिया विधानसभा में क्रमशः भाजपा और कांग्रेस के टिकट पर राजनीतिक लड़ाई लड़ी थी। नीरज को पराजित कर संजीव विधायक बने। वैसे, दोनों चचेरे भाई ठहरे। बाद में नीरज की हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप संजीव सिंह पर है।

अदालत में दाखिल शिकायतवाद में  अमरनाथ सिंह ने आरोप लगाया है कि 25 अगस्त 2019 को 4:54 बजे तथा 4:57 बजे हर्ष सिंह के फेसबुक पर झरिया के विधायक एवं जनता मजदूर संघ के केंद्रीय उपाध्यक्ष संजीव सिंह के दो फोटोग्राफ के साथ यह लिखा गया कि सजा तो होना है, इसको नाटक जितना कर ले। शिकायतवाद के मुताबिक संजीव सिंह वर्तमान में नीरज हत्याकांड का ट्रायल फेस कर रहे हैं जो फिलहाल अदालत में लंबित है। संजीव सिंह न्यायिक हिरासत में जेल में बंद हैं। उनके सीने में दर्द की शिकायत थी जिसपर जेल प्रशासन द्वारा अदालत के निर्देश पर पीएमसीएच इलाज के लिए भेजा गया था। संजीव सिंह पर इस प्रकार का जान बूझकर किया गया कमेंट मानहानि का अपराध है।

सोशल मीडिया पर इस प्रकार की टिप्पणी से न केवल विधायक संजीव सिंह बल्कि जनता मजदूर संघ की प्रतिष्ठा को भी ठेस पहुंची है। विधायक संजीव सिंह और जनता मजदूर संघ के उपाध्यक्ष अमरनाथ सिंह को जानने वाले बहुत लोग हैं जिनके बीच उनकी प्रतिष्ठा धूमिल हुई है। सोशल नेटवर्क पर इस प्रकार की टिप्पणी आने के बाद से कई लोगों द्वारा उनसे पूछा गया की हर्ष सिंह को कैसे पता चला कि संजीव सिंह को सजा होगी जबकि मामला अभी अदालत में लंबित है। फेसबुक पर यह टिप्पणी आने के बाद वह तथा जनता मजदूर संघ के समर्थक मानसिक रूप से प्रताडि़त हो गए है।

Posted By: Mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप