जागरण टीम, मैथन। बंगाल की खाड़ी में बने लो प्रेशर के कारण तेज बारिश से मैथन और पंचेत डैम के जलस्तर में तेजी से इजाफा हो रहा है। मैथन डैम का जल स्तर 479 फीट व पंचेत डैम का जलस्तर 410: 87 फीट पहुंच चुका है। डैम के निचले इलाकों और पश्चिम बंगाल के इलाकों में डीवीसी द्वारा एहतियात तौर पर बाढ़ का ग्रीन अलर्ट जारी किया गया है। ग्रीन अलर्ट के तहत डैम छोड़े जाने वाले पानी के क्षेत्रों के लोगों को सतर्क रहने का निर्देश दिया जाता है। दोनों ही डैम में अभी खतरे के निशान से जलस्तर 15 फीट है। लेकिन, डैम के ऊपरी हिस्से हो रहे जलजमाव के कारण मैथन और पंचेत डैम से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है।

मैथन से प्रति घंटा 14000 क्यूसेक और पंचेत डैम से प्रतिदिन 44000 एकड़ फीट पानी छोड़ा जा रहा

मैथन डैम के दो फाटक से 14000 क्यूसेक प्रति घंटा पानी छोड़ा जा रहा है। वही पंचेत डैम के सात फटाक से 44000 एकड़ फीट प्रतिदिन पानी छोड़ा जा रहा है। इधर, बारिश के कारण ऊपरी हिस्से से दोनों ही डैम में हो रहे जलजमाव पर डीवीसी का जल विज्ञान केंद्र लगातार नजर रखे हुए हैं। मैथन एवं उसके आसपास के क्षेत्रों में हो रही बारिश, ऊपरी हिस्से पर डैम मैं आ रहे पानी समेत डैम छोड़े जा रहे पानी पर नजर रखी जा रही है।

बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर का असर

बंगाल की खाड़ी बने लो प्रेशर के कारण आंधी व बारिश के कारण निरसा, मैथन, कालियासोल समेत मुगमा क्षेत्र में जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है । निरसा क्षेत्र में जगह-जगह पेड़ उखाड़ कर घरों व सड़क पर गिर गए । कई लोगों के घर क्षतिग्रस्त हो गए । पेड़ गिरने से निरसा व मैथन क्षेत्र में कई जगह पर यातायात भी बाधित हुई। निरसा के विद्यासागरकालोनी व हरियाजाम में घरों में बारिश का पानी भर गया । भागाबांध निवासी शिबू नंदी के घर पर बेल का बड़ा पेड़ व विश्वनाथ के घर सेगुन का पेड़ गिर जाने के कारण घर को नुकसान हुआ। मदनडीह पंचायत के जसपुर गांव निवासी अश्विनी लया का मिट्टी का घर धराशाई हो गया। यह तो गनीमत रही कि सभी लोग घर से सुरक्षित बचकर भाग पड़े। जिसके कारण जानमाल का नुकसान नहीं हुआ। अश्विनी लया अपने बड़े भाई तपन लया के घर में स्वजनों के साथ शरण लिए हुए हैं। 

जसपुर गांव के स्कूल भवन के मुख्य द्वार पर पलाश के पेड़ की डाली टूट कर बिजली के खंभे पर गिर गई जिसके कारण बिजली का खंभा भी क्षतिग्रस्त हो गया । पोदारडीह गांव के समीप बड़ा पेड़ बिजली के खंभे पर गिर जाने के कारण वहां लगा ट्रांसफार्मर व बिजली के कई खंभे क्षतिग्रस्त हो गए । मारकोड़ा निवासी संतोष गोराई के घर पर शीशम का पेड़ गिर जाने के कारण चारदीवारी व शौचालय क्षतिग्रस्त हो गया। लगातार हो रही बारिश के कारण हाथबाड़ी के समीप एनएच टू के किनारे अवस्थित बढ़ा पेड़ गिरने से निरसा से धनबाद जाने वाली लेन लगभग 1 घंटे तक बंद रही । बाद में एनएचएआई द्वारा जेसीबी से पेड़ हटाने के बाद न लेन चालू हो सका। पांड्रा मोड़ के समीप शिरीष का पेड़ सड़क के बीचोंबीच गिर जाने के कारण पांड्रा पोद्दारडीह आने जाने का रास्ता बाधित रहा । बाद में स्थानीय लोगों ने पेड़ों को काटकर सड़क से हटाया। पोद्दारडीह स्थित रानी तालाब के बारिश का पानी निकलने का रास्ता संकुचन हो जाने व सड़क ऊंचा हो जाने के कारण हरियाजान कालोनी स्थित राधा रानी मंदिर से लेकर सिंदरी कालोनी मोड़ तक सभी के घरों में पानी घुस गया । 

मैथन बीएसके कालेज के समीप पेड़ गिरने से यातायात बाधित

बारिश व तेज आंधी के कारण मैथन और आसपास के क्षेत्र में कई जगहों पर पेड़ गिरने से रास्ता बंद हो गया। बीएसके कालेज के समीप घंटों यातायात बाधित रही। डीवीसी प्रशासनिक भवन के समीप रोड पर करीब दो फीट पानी बहते रहने से डीवीसी के कई कर्मी कार्यालय नहीं पहुंच पाए। कुछ लोगों ने हिम्मत दिखाई तो पानी में फसना पड़ा । मैथन क्लब में पेड़ गिरने से क्लब की चारदीवारी क्षतिग्रस्त हो गई है। बारिश के कारण मैथन में कई जगह बिजली के पोल भी उखड़ गए हैं।।

Edited By: Mritunjay