धनबाद : धनसार निवासी सुनील रवानी की बाइक की डिक्की से 6.80 लाख रुपये निकलने के मामले में नया तथ्य सामने आया है। पता चला है कि बैंकमोड़ थाने के एएसआइ राजेन्द्र उराव ने बाइक से पैसा लेने के बाद बाइक पकड़ने वाले टाइगर जवान मनभुल को रिवॉर्ड के नाम पर एक हजार रुपये भी दिया था। इसके अलावा उराव ने एक अन्य एएसआइ संतोष सिंह की भी मदद ली थी। इस मामले में फि लहाल तीनों को वरीय पुलिस अधीक्षक किशोर कौशल निलंबित कर दिया है।

बताते चलें कि धनसार निवासी सुनील रवानी की डिक्की से बैंक मोड़ के एएसआइ राजेंद्र उराव ने लॉकडाउन का डर दिखाकर छह लाख 80 हजार रुपये निकाल लिए थे। उन्होंने रुपये बरामदगी की जानकारी थाने के वरीय अधिकारियों को न देकर रुपये खुद रख लिए थे। सुनील रवानी ने तत्काल इसकी शिकायत वरीय अधिकारियों से की थी। इस मामले में डीएसपी विधि व्यवस्था मुकेश कुमार के स्तर से जांच की गई तो प्रारंभिक जाच में पुलिस अधिकारी रुपये दबाने में फंस गए। पुलिस सूत्रों की माने तो डिक्की से पैसा निकलने के बाद वहां संतोष सिंह नामक एक अन्य एएसआइ भी आ गया था। राजेंद्र उराव ने उसके भी अपने साथ मिला लिया। इसके बाद टाइगर जवान मनभुल को यह कहते हुए 1000 रुपये दिए कि यह उसके काम के लिए पुलिस रिवॉर्ड है। जाच में यह बात भी सामने आई है कि बैंकमोड में साइबर अपराध की सूचना संतोष सिंह ने ही उराव को दी थी। इसी सूचना पर उराव ने टाइगर जवान मनभुल को वाहन पकड़ने का आदेश दिया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस