धनबाद, जेएनएन। शादी करने की नियत से धनबाद के बारामुड़ी से अगवा की गई नाबालिग का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। घटना के एक हफ्ते बीत जाने के बाद भी पुलिस अंधेरे में तीर मार रहीं है।

पुलिस सुत्रों के अनुसार चुनाव में व्यस्तता के कारण पुलिस की टीम मामले की जांच के लिये अब तक उत्तर प्रदेश नहीं जा सकी है। हालांकि यूपी पुलिस से इस मामले में संपर्क किया जा रहा है। बता दें कि 30 नवंबर को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का एक अधेड़ बारामुड़ी की रहने वाली एक नाबालिग को अपने साथ ले गया। नाबालिग के परिजनों ने इस संबंध में धनबाद थाना में घटना की है। परिजनों ने बताया कि कुछ लोग उसके घर शादी की बात करने आए थे। लेकिन जिससे शादी करने के लिए कहा जा रहा था वह अधेड़ उम्र का व्यक्ति था। इसका परिजनों ने विरोध करते हुए शादी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया। इसके बाद वे लोग जबरन उनकी नाबालिग पुत्री को अपने साथ ले गये।

परिजनों ने उत्तर प्रदेश से आई सोनामनी देवी, महादेव ठाकुर, बहादुर ठाकुर और निमाई ठाकुर पर आरोप लगाया है। उनके अनुसार वे सभी एक स्कॉर्पियो से धनबाद पहुंचे थे और जबरन उनकी नाबालिग बेटी को गाड़ी में बिठा कर ले गए। लिखित शिकायत मिलने के बाद पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जाच में जुटी है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस