धनबाद : विधानसभा चुनाव के नामाकन से एक दिन पहले रणधीर वर्मा चौक से पोस्ट ऑफिस तक की सडक को बैरीकेड लगाकर सील कर देने के कारण सिविल कोर्ट के अधिवक्ताओं, कर्मचारियों व वादकारियों को दिन भर परेशानी का सामना करना पड़ा। हद तो तब हो गई जब मौके पर तैनात पुलिसकर्मियों ने न्यायिक पदाधिकारियों को भी नही बख्शा और उन्हें भी जाने से रोका, हालांकि बाद में उन्हें जाने दिया गया। रणधीर वर्मा चौक एवं मुख्य डाकघर की ओर से सिविल कोर्ट आनेवाले अधिवक्ताओं एंव न्यायिक पदाधिकारी एवं कर्मचारियों को आज सुबह रोककर उनका परिचय पत्र सुरक्षाकर्मियों द्वारा मागा गया तथा कई अधिवक्ताओं को अदालत आने से रोक दिया गया। दूसरी ओर एसडीओ कोर्ट कैंपस को पूरी तरह खाली करा दिया गया। वहा किसी अधिवक्ताओं को बैठने की अनुमति नहीं दी गई। एसडीओ कोर्ट कैंपस में सुबह कुछ अधिवक्ता आकर जैसे ही बैठे तभी पुलिस ने उन्हें वहा से बाहर कर दिया। इससे अधिवक्ता आक्रोशित थे। स्थिति को बिगड़ते देख बार बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राधेश्याम गोस्वामी ने हस्तक्षेप कर मामले को शात कराया तथा अधिवक्ताओं को न्यायालय आने देने की छूट देने का अधिकारियों से आग्रह किया तब जाकर अधिवक्ताओं को न्यायालय आने दिया गया।

जिला प्रशासन की सख्ती को देखते हुए अधिवक्ताओं का प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार सुबह प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश बसंत कुमार गोस्वामी से मिला और स्थिति से अवगत कराया तथा आवेदन देकर इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश बसंत कुमार गोस्वामी ने शुक्रवार शाम एसडीओ कोर्ट कैंपस का निरीक्षण किया तथा अधिवक्ताओं की पीड़ा से अवगत हुए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप