गोविंदपुर, जेएनएन। देवली स्थित मां भद्रकाली हार्ड कोक इंडस्ट्रीज में पुलिस ने छापेमारी कर दो हजार टन से अधिक कोयला जब्त किया। चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। कोयला लदा दो हाइवा भी जब्त किया गया। भट्ठा मालिक दीपक पोद्दार सहित सात लोगों के विरुद्ध काड अंकित किया गया है। दीपक पोद्धार वेडलॉक रिसोर्ट के भी संचालक बताए जाते हैं। थाना प्रभारी रणधीर कुमार के नेतृत्व में छापेमारी हुई। यह इस क्षेत्र की अब तक की सबसे बड़ी छापेमारी है।

पुलिस ने भट्ठा परिसर से हाइवा (संख्या जेएच 02 वाइ 9699) के चालक दिलीप कुमार रवानी (गोधर) तथा हाइवा (संख्या जेएच 10 जे 7399) के चालक राजेश कुमार रवानी (गोधर रवानी बस्ती), मुंशी राजू कुमार और संतोष कुमार साव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दोनों हाइवा में लगभग 36 टन कोयला था। मंगलवार देर रात हुई कार्रवाई मामले में दोनों हाइवा के मालिकों व हार्डकोक भट्ठा के मालिक दीपक पोद्दार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने भट्ठा परिसर से एक हजार टन कच्चा कोयला, 900 टन बैंड कोयला, 20 टन रिजेक्शन, सात ओवन में सात टन कोयला, 11 टन तैयार हार्डकोक, 30 टन हार्डकोक दो नंबर तथा 10 टन झावा कोयला बरामद किया। इंस्पेक्टर कुमार ने बताया कि पिछले कई दिनों से यहा बड़े पैमाने पर कोयला तस्करी की जा रही थी। बीसीसीएल की कागनी कोलियरी का कोयला जय बालाजी इंडस्ट्रीज पश्चिम बंगाल के कागजात पर मां भद्रकाली भट्ठा में गिराया जाता था। पुलिस ने हाइवा से बीसीसीएल का कोयला होने संबंधित कई कागजात भी बरामद किया, जो जय बालाजी के नाम से है। चालकों ने स्वीकार किया कि दीपक पोद्दार के कहने पर सीसीएल का यह कोयला जय बालाजी इंडस्ट्रीज के बजाए मा भद्रकाली कोक इंडस्ट्रीज में गिरा दिया जाता था।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप