संस, तिसरा : कुजामा कोलियरी प्रांगण में शनिवार को बिहार कोलियरी कामगार यूनियन का वार्षिक शाखा सम्मेलन हुआ। बीसीकेयू लोदना एरिया के सचिव शिव कुमार सिंह व क्षेत्रीय कमेटी के जितेंद्र निषाद, मनोज पासवान उपस्थित थे। क्षेत्रीय सचिव शिव कुमार सिंह ने उद्घाटन भाषण में कहा कि लोदना क्षेत्र के कुजामा कोलियरी में बीसीकेयू के संघर्षों का गौरवमयी इतिहास रहा है, लेकिन आज मैन पावर कम है। उत्पादन भी पर्याप्त नहीं हो रहा है। पिछले दिनों सेफ्टी कमेटी की टीम ने निरीक्षण किया। उत्पादन क्षेत्र में भारी कमी पाई गई। प्रबंधन धीरे-धीरे कुजामा को आउटसोर्सिंग के हवाले करने की साजिश रच रहा है। विभागीय कर्मियों का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। सरकार व प्रबंधन की मजदूर विरोधी नीति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यही कारण है कि केंद्र सरकार कई श्रम कानूनों को समाप्त कर दिया है। सरकार के खिलाफ तमाम ट्रेड यूनियनों को एक मंच पर आकर 23-24 फरवरी की राष्ट्रव्यापी औद्योगिक हड़ताल को सफल बनाना चाहिए। तभी कोयला उद्योग बचेगा। मजदूरों का भविष्य सुरक्षित रहेगा। सम्मेलन में सर्वसम्मति से 15 सदस्यों वाली नई कमेटी का पुनर्गठन किया गया। इजहार अंसारी अध्यक्ष, सुरेंद्र पासवान सचिव, सहदेव गोप कोषाध्यक्ष, अजय पासवान, कुंदन पासवान उपाध्यक्ष, जगन्नाथ पासवान संयुक्त सचिव, अमृत, सुदामा बेलदार संयुक्त सचिव, डिस्को महतो संयुक्त सचिव, ललन साव, नारो हजाम, मोहम्मद शमीम, उपेंद्र कुमार, अनवर, रामलाल बाउरी कार्यकारिणी सदस्य बनाए गए। मौके पर मंटू महतो, मनोज कुमार प्रजापति, गुड्डू चौहान, राज बेलदार, अर्जुन रविदास आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran