संवाद सहयोगी, नावागढ़: खरखरी कोलियरी को प्रबंधन द्वारा बंद करने के खिलाफ गुरुवार को संयुक्त मोर्चा ने कोलियरी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया। खरखरी चानक से जुलूस के शक्ल में प्रदर्शनकारी हाथों में झंडा लेकर नारेबाजी करते हुए कोलियरी कार्यालय के समीप पहुंचे। वक्ताओं ने कहा कि प्रबंधन साजिश के तहत खरखरी कोलियरी को बंद करना चाह रही है। संयुक्त मोर्चा के समर्थक मजदूरों के सहयोग से उनके मंसूबे को कभी पूरा होने नहीं दिया जाएगा। इसके लिये मोर्चा को एकता का परिचय देना होगा। वक्ताओं ने सभा के माध्यम से प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर नीति नहीं बदलती है तो उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे। वक्ताओं ने कहा कि एक सप्ताह के अंदर खरखरी कोलियरी में उत्पादन शुरू नहीं हुआ तो पूरे गोविदपुर क्षेत्र का उत्पादन व डिस्पैच ठप कर दिया जाएगा।

खरखरी कोलियरी प्रबंधन संसाधन की कमी बताकर दो माह से कोलियरी का उत्पादन बंद कर रखा है। कोलियरी प्रबंधक एके चौधरी ने बताया कि कोलियरी को चालू करने के लिए मैन पावर की जरूरत है। खदान में कम से कम प्रतिदिन दो सौ टन कोयले के उत्पादन के लिए प्रशिक्षित ट्रामर व एसडीएल चालक की जरूरत है।

Edited By: Jagran