जागरण संवाददाता, धनबाद : नवमी और दशमी खत्म होते ही नगर निगम ने तालाबों से मूर्तियां निकालने का काम युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया है। शनिवार को निगम क्षेत्र के सबसे बड़े तालाब विकासनगर छठ तालाब और मनईटांड़ छठ तालाब से साफ सफाई अभियान की शुरुआत हुई। स्वच्छता निरीक्षक चंदन भारती के नेतृत्व में दोनों छठ तालाबों में दो दर्जन से अधिक सफाई कर्मी सफाई कार्य में जुट गए। तलाब के अंदर से मूर्तियां निकालने का काम शुरू हो चुका है। इसके अलावा तालाबों में फेंकी गई पूजन सामग्री भी साफ की जा रही है। स्वच्छता निरीक्षक चंदन भारती ने बताया कि शाम तक शहर के लगभग सभी तालाबों, जहां भी मूर्ति विसर्जन की जाती है वहां सफाई कर दी जाएगी। इनमें विकासनगर छठ तालाब, मनईटांड़, पंपू तालाब लोको टैंक, रानीबांध, झरिया राजा तालाब हीरक रोड राजा तालाब समेत लगभग सभी तालाबों से गंदगी आज हर हाल में साफ कर दी जाएगी। छठ पूजा में अभी समय है, इसलिए दिवाली के बाद एक बार फिर से सफाई अभियान चलाया जाएगा। 

दिवाली बाद छठ पूजा के लिए तालाबों की होगी सफाई

नगर आयुक्त सत्येन्द्र कुमार ने बताया कि अभी नवरात्र के मूर्ति विसर्जन को लेकर तालाब साफ किए जा रहे हैं। दिवाली बाद एक बार फिर से बड़े स्तर पर तालाबों की सफाई की जाएगी। दिवाली में पूजन के बाद काफी सामग्री तालाबों में फेंकी जाती है। तालाबों में सामग्री डालने पर रोक लगी हुई है फिर भी तलाब गंदे हो ही जाते हैं। ऐसे में छठ पूजा को देखते हुए दिवाली से लेकर छठ तक लगातार पांचों अंचल धनबाद, झरिया, सिंदरी, कतरास और छाताटांड़ में लगभग 700 सफाई कर्मी लगाकर तालाबों की सफाई की जाएगी। इस दौरान लोगों को जागरूक किया जाएगा कि तालाबों में गंदगी ना करें।

Edited By: Atul Singh