जागरण संवाददाता, धनबाद : कला उत्सव 2021 ऑनलाइन आयोजित किया जाएगा झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद ने जिला स्तरीय के साथ-साथ राज्य स्तरीय आयोजन भी ऑनलाइन करने का निर्देश दिया है नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्र-छात्राएं कला उत्सव में हिस्सा लेंगे कला उत्सव में सभी सरकारी सरकारी सहायता प्राप्त निजी स्कूल केंद्रीय विद्यालय समेत अन्य स्कूलों के बच्चे भी भाग लेंगे धनबाद में ऐसे स्कूलों की संख्या लगभग 250 है। सबसे महत्वपूर्ण है कि जिला स्तरीय कला उत्सव 2021 के आयोजन के लिए जिले को 15,000 मिलेंगे। इससे निर्णायक को मानदेय, ट्राफी, प्रविष्टियों (भाग लेने वाले छात्र-छात्राओं) की वीडियोग्राफी में खर्च किया जाएगा। राशि को अपर्याप्त बताते हुए कई लोग सवाल उठा रहे हैं। स्कूल स्तर पर कितना रुपए खर्च किया जाना है। माध्यमिक स्तर के छात्रों की कलात्मक प्रतिभा को पहचानने उसके विकास तथा शिक्षा में कला को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 2015 से कला उत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता की सूची में स्थानीय खेल तथा खेल को भी शामिल किया गया है।

30 अक्टूबर तक मांगी गई इंट्री

सभी स्कूलों से 30 अक्टूबर तक वीडियो और फोटो ग्राफ के रूप में एंट्री मांगी गई है। स्कूलों से प्राप्त एंट्री वीडियो तथा फोटोग्राफ का मूल्यांकन निर्णायक समिति करेगी। जिले में 4 सदस्य निर्णायक समिति का गठन करेंगे। इसमें कला के सभी क्षेत्र के विशेषज्ञों को शामिल किया जाएगा। जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को जिला ट्रॉफी तथा प्रमाण पत्र दिया जाएगा। सभी नौ प्रतियोगिता में एक-एक छात्र को जिला टॉफी तथा प्रमाण पत्र दिया जाएगा। सभी नौ प्रतियोगिता में एक-एक छात्र-छात्रा यानी कि 18 छात्र-छात्राओं का चयन राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए किया जाना है। 16 नवंबर तक राज्य कार्यालय को रिजल्ट उपलब्ध कराना है। वहीं राज्य स्तरीय कला उत्सव का आयोजन 22 से 26 नवंबर के बीच ऑनलाइन होगा।

प्रतियोगिता का होगा आयोजन

संगीत गायन, शास्त्रीय संगीत, पारंपरिक लोक संगीत, संगीत वादन, शास्त्रीय संगीत वादन, पारंपरिक लोक संगीत वादन, नृत्य, शास्त्रीय तथा लोक नृत्य, दृश्य कला तथा स्थानीय खिलौने का खेल।

Edited By: Atul Singh