झरिया, जेएनएन। झरिया विधानसभा क्षेत्र में धीरे-धीरे अशांत होता जा रहा है। यहां आए दिन विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह (रघुकुल) और पूर्व विधायक संजीव सिंह (सिंह मैंशन) समर्थकों में टकराव हो रहा है। शनिवार को नार्थ तिसरा परियोजना में कंपनी का काम बंद व चालू कराने के सवाल पर रघुकुल समर्थक ग्रामीण  और मेंशन समर्थक सतीश महतो के लोगों के बीच हिंसक झड़प हुई। तीर-धनुष, लाठी और डंडों का जमकर प्रयोग हुआ। दोनों ओर से पत्थरबाजी भी हुई। फायरिंग भी हुई। पथराव में एएसआइ चोटिल हो गए। घटनास्थल पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने लाठी चार्ज किया। दोनों ओर से आधा दर्जन समर्थक व एक पुलिस अधिकारी जख्मी हुए। मामले को नियंत्रित करने के लिए छह थानों की पुलिस पहुंची। इस मामले में 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया। 32 बाइक जब्त की गई।

प्रशिक्षु पुलिस अधिकारी कुंंदन वर्मा घायल

पुलिस का कहना है कि ग्रामीणों के हमले में प्रशिक्षु अधिकारी कुंदन वर्मा जख्मी हो गए। वहीं पुलिस के डंडे से आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए। चार का इलाज बलियापुर सीएचसी में कराया गया। सूचना पर ङ्क्षसदरी डीएसपी एके सिन्हा, जोड़ापोखर थाना के इंस्पेक्टर अखिलेश कुमार, तिसरा थाना प्रभारी सीपी सिंह, घनुडीह ओपी प्रभारी चंद्रशेखर सिंह, बलियापुर थाना प्रभारी, अलकडीहा ओपी प्रभारी और धनबाद से पुलिस पहुंची। पुलिस ने एक खोखा कन्हैया चौहान के घर के पास से बरामद किया। जब्त बाइकों में एक पर पुलिस लिखा है।

ये है मामला

सीधावनी बस्ती रांगामाटी निवासी सोहन हेंब्रम नॉर्थ तिसरा परियोजना में निजी कंपनी में काम करता था। सतीश ने छह वर्ष पहले उसे काम में लगाया था। पहले वह सतीश के लिए काम करता था। इन दिनों उसकी बात नहीं मान रहा था। फिर कंपनी के मालिक राजेश राणा से कहकर सतीश ने उसे काम से निकलवा दिया। इसके विरोध में शनिवार को ग्रामीणों ने काम बंद कराया। सूचना पाकर सतीश व उनके समर्थक पहुंच गए। ग्रामीणों ने सभी को मारपीट कर खदेड़ दिया। बाद में दोनों तरफ से लोग पहुंचे और भिड़ंत हो गई।

ये हिरासत में

गणेश राय, पप्पू सिंह, मुकेश कुमार, राहुल कुमार, सूरज निषाद, मुकेश कुमार, राहुल कुमार, छोटू पांडेय, प्रदीप ओझा, मुन्ना पांडेय समेत 13 लोग।

सभी चोर और अराजक तत्व

तिसरा थाना प्रभारी सीपी ङ्क्षसह ने कहा कि नॉर्थ तिसरा गोकुल पार्क निवासी कन्हैया चौहान के नेतृत्व में एक सौ से अधिक लोग लाठी-डंडा, तीर-धनुष के साथ जमावड़ा होने की जानकारी पाकर पहुंचे। सभी डीजल चोर और अराजक तत्व हैैं। कई पारंपरिक व हथियार के साथ थे। आने-जानेवाले को पीट रहे थे। पुलिस पर भी हमला कर दिया। इसके बाद जवाबी कार्रवाई की। सभी लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे थे। पुलिस ने कन्हैया का घर सील कर जवानों को तैनात कर दिया है। सीओ मो. असलम ने कहा कि कन्हैया फसाद की जड़ है। उस पर मामला दर्ज है। कुछ दिन पूर्व ही जेल से छूटा है।

जब्त सामग्री

32 बाइक, लाठी, डंडा, शराब की बोतल, तीर-धनुष, खोखा, राशन, गैस सिलेंडर, चौकी, बर्तन तिरपाल। 

कानून तोडऩे का किसी को अधिकार नहीं है। दो गुटों में वर्चस्व को लेकर मारपीट की घटना हुई। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

-एके सिन्हा, डीएसपी, सिंदरी

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस