धनबाद/ मैथन, जेएनएन। दिल का दाैरान पड़ने ने रविवार सुबह चिरकुंडा सर्किल इंस्पेक्टर दिलीप कुमार दास का निधन हो गया। चिरकुंडा थाना परिसर में अचानक जमीन पर गिर पड़े। आनन-फानन में दास को तालडंगा स्थित एक निजी अस्पताल ले जाया गया। स्थिति गंभीर देख डॉक्टरों ने रेफर कर दिया। इसके बाद पश्चिम बंगाल के बराकर स्थित एक नर्सिंग होम में इलाज के लिए ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने जवाब दे दिया। इसके बाद धनबाद के पीएमसीएच में लाया गया। यहां चिकित्सकों ने दास को मृत घोषित कर दिया। 

चिरकुंडा सर्किल में पिछले डेढ़ साल से थे पदस्थापित 

दास पिछले डेढ़ साल से चिरकुंडा सर्किल में पदस्थापित थे। कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। वह मूल रूप से बिहार के भागलपुर के रहने वाले थे। चिरकुंडा थाना क्षेत्र के कुमारधुबी ओपी के तहत बाघाकुड़ी में 16 अप्रैल को एक कोरोना पॉजिटिव केस मिला था। इसके बाद से इलाके को कंटेनमेंट जोन के रूप में चिह्नित कर कर्फ्यू लगा दिया गया है। इस दाैरान पुलिस अधिकारी और कर्मचारी ड्यूटी पर तैनात है। इंस्पेक्टर दिलीप दास भी लगातार ड्यूटी पर ही थे। 

पीएमसीएच ने कोरोना जांच के लिए रोका शव 

इंस्पेक्टर दिलीप दास की मृत्यु की घोषणा करने के साथ ही पीएमसीएच ने कोरोना जांच के लिए शव को रोक लिया। शव से स्वाब सैंपल लिया गया। शव रोके जाने की सूचना मिलते ही ग्रामीण एसपी ग्रामीण एसपी अमित रेणु और डीएसपी मुकेश कुमार कुमार पीएमसीएच पहुंचे। कोरोना जांच में यहां करीब 24 घंटे का समय लगता है। पुलिस पदाधिकारियों ने पीएमसीएच प्रबंध से जल्द से जल्द कोरोना जांच करने का अनुरोध किया। कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटेव रहने पर पोस्टमार्टम किया जाएगा। इसके बाद शव को धनबाद पुलिस परिवार को साैंपा जाएगा। पीएमसीएच से पार्थिव शरीर को पुलिस लाइन लाकर सलामी दी जाएगी। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस