जागरण संवाददाता, धनबाद : अपराध कथा पर आधारित सुपर-डुपर हिट फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' याद है न! निर्माता, निर्देशक और लेखक अनुराग कश्यप की इस फिल्म का नाम आते ही नजरों के सामने सरदार खान और रामधीर सिंह के बीच गैंगवार के दृश्य उभरने लगते हैं। इस फिल्म का नाम सुनकर ही हर किसी के दिलो-दिमाग में वासेपुर की जो गैंगवार की भयावह पिक्चर उभरती है वह बताने की जरूरत नहीं है। इसके इतर 72 वें स्वतंत्रता दिवस पर बुधवार को वासेपुर की नई पिक्चर देखने को मिली। यह पिक्चर थी-तिरंगा 100 मीटर।

कुछ नया करने की सोच लिए अल्पसंख्यक बहुल वासेपुर के बच्चों ने स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा यात्रा निकाली। सबसे पहले उन्होंने 100 मीटर लंबा तिरंगा झंडा बनाया। बच्चे दोपहर बाद झंडे को लेकर वासेपुर से नया बाजार, स्टेशन रोड, डीआरएम चौक होते हुए रणधीर वर्मा चौक पहुंचे। इसके बाद पालीटेक्निक होते हुए वासेपुर लौट गए। झंडे को सैकड़ों बच्चे हाथ में पकडे़ चल रहे थे। राष्ट्रीय पर्व पर राष्ट्रभक्ति का यह नजारा देखते ही बन रहा था। शहर की जिस सड़क और गली से यह तिरंगा यात्रा गुजरी देखने के लिए लोगों के पांव थोड़ी देर के ठहर गए।

तिरंगा यात्रा को काबिल-ए-तारिफ करार देते हुए सामाजिक कार्यकर्ता जुबैर आलम कहते हैं, राष्ट्रप्रेम की भावना प्रकट करने के लिए बच्चों के प्रयास की जितनी भी सराहना की जाय कम है। ऐसे ही प्रयासों से समाज और तस्वीर पिक्चर बनेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप