बीके पाण्डेय, बोकारो: बोकारो इस्पात प्रबंधन 13 अगस्त की शाम नियोजन से वंचित वैसे 615 विस्थापित युवाओं की सूची जारी की है जिन्होंने बोकारो स्टील में अपरेंटिस ट्रेनिंग के लिए आवेदन किया था। प्रबंधन द्वारा जारी की गई तीसरी सूची है। उम्मीदवारों को 23 अगस्त से लेकर तीन सितंबर के बीच मानव संसाधन केंद्र में अपने सभी दस्तावेज के साथ उपस्थित होना होगा। दस्तावेज में आधार कार्ड, मैट्रिक का प्रमाण पत्रद्, यदि उम्मीदवार इंटर और आईटीआई की परीक्षा पास किया है तो उसका प्रमाण पत्र के साथ-साथ विस्थापित प्रमाण पत्र भी देना होगा। विदित हो कि बोकारो स्टील में अप्रेंटिस करने वाले युवाओं को पूरे संयंत्र में अलग-अलग स्थानों पर संयंत्र के आपरेशनल ट्रेनिंग दिया जाता है। बदले में कंपनी मानदेय का भुगतान करती है। एक वर्ष के प्रशिक्षण के बाद उन्हें प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है। ऐसे लोग सेल या अन्य किसी भी इस्पात संयंत्र में आवेदन करते हैं तो संबंधित कंपनी उन्हें प्राथमिकता देती है।

1500 विस्थापितों के नियोजन के लिए बोकारो इस्पात ने बनाई थी सूची 

बोकारो इस्पात प्रबंधन ने वर्ष 2017-18 में लगातार बढ़ रहे विस्थापितों के आंदोलन को देखते हुए इस बात का निर्णय लिया की वैसे विस्थापित परिवार जिनके परिवार से अब तक कोई नियोजन नहीं मिला है। वैसे विस्थापितों की सूची बनाई गई और तब इस्पात प्रबंधन ने कहा था कि प्रत्येक वर्ष अप्रेंटिस कराया जाएगा। अप्रेंटिस पास विस्थापितों को बोकारो इस्पात में निकलने वाली नौकरियों में प्राथमिकता मिलेगी। पर अब तक 1000 लोग इस अप्रेंटिस का ट्रेनिंग कर चुके हैं। कोरोना के कारण ना तो बोकारो इस्पात में भर्ती निकली और ना ही उन्हें नियोजन मिला। एक-एक वर्ष का प्रशिक्षण प्राप्त कर सभी विस्थापित घरों में बैठे हुए हैं।

तेज हो रहा विस्थापित आंदोलन

हाल के दिनों में बोकारो इस्पात के खिलाफ कई विस्थापित संगठनों ने आंदोलन किया है। माना जा रहा है कि बोकारो इस्पात प्रबंधन ने सूची जारी कर विस्थापितों के गुस्से को शांत करने का प्रयास किया है। बीते सप्ताह पूर्व विधायक उमाकांत रजक की अगुवाई में धरना दिया गया था। 13 अगस्त को झारखंड मुक्ति मोर्चा बोकारो महानगर समिति के अध्यक्ष मंटू यादव के नेतृत्व में पुतला दहन किया गया था। 26 अगस्त को झारखंड मुक्ति मोर्चा जिला अध्यक्ष हीरालाल मांझी के नेतृत्व में महाधरना का आयोजन होना है ।

यहां देखें पूरी ड‍िटेल्‍स:   bslta.in/revenue/

झामुमो ने कहा पहले से अप्रेंटिस पास विस्थापितों को दे नियोजन साथ में कराएं अपरेंटिस

बोकारो इस्पात प्रबंधन द्वारा जारी 615 विस्थापित बेरोजगारों की सूची पर झारखंड मुक्ति मोर्चा महानगर अध्यक्ष मंटू यादव ने प्रेस बयान जारी कर कहा है कि बोकारो इस्पात प्रबंधन विस्थापितों को भ्रम में डालने की कोशिश कर रहा है जब पूर्व से 1000 विस्थापित अपरेंटिस पास घरों में बैठे हुए हैं । उनके पास दस हजार का भी काम नहीं है । 300 मृत कर्मचारियों के आश्रित घर में बैठे हुए हैं उनके पास भी काम नहीं है और वे सभी अपरेंटिस पास हैं। ऐसे में 615 की नई सूची जारी कर बोकारो स्टील प्रबंधन केवल भ्रम पैदा करना चाहता है। प्रबंधन से मांग है कि तत्काल जितने भी विस्थापित अपरेंटिस पास कर चुके हैं सभी को बीना कोई नियुक्ति निकाले हुए सीधे उन्हें नियोजित किया जाए । इसी प्रकार मृतक कर्मचारियों के आश्रितों को भी नियोजित किया जाए। जिन विस्थापितों की उम्र सीमा इस्पात प्रबंधन के कारण समाप्त हो गई है उन्हें भी नियोजित करना होगा।

Edited By: Atul Singh