पुटकी, जेएनएन। सेल्फी लेने और कई तरह का पोज देकर तस्वीरें खिंचवाने के चक्कर में मंगलवार को 24 साल के युवक की जान चली गई। मुनीडीह क्षेत्र के भटिंडा फॉल में बोकारो सेक्टर- 4 का छात्र अमृत कुमार सिंह गिर गया और डूब गया। अमृत अपने घर का इकलौता चिराग था। उसके पिता राजकुमार सिंह बोकारो के सेक्टर- 4 में ही रहते हैं।

अमृत आरबीएस कॉलेज, बोकारो का छात्र था और बीसीए की प्रायोगिक परीक्षा देने अपने दोस्तों के साथ गुरुनानक कॉलेज आया था। प्रैक्टिकल खत्म होने के बाद घर लौटने के क्रम में 10 दोस्तों के साथ बाइक से भटिंडा फॉल पहुंचा था। मंदिर के पास स्टैंड में बाइक खड़ी की। इसके बाद घूमते-घूमते सतखटिया के पास पहुंच कर फोटोग्राफी करने लगा। वहां पत्थर पर खड़ा होकर फोटो खिंचवा रहा था। अचानक संतुलन बिगड़ गया और वह पानी में जा गिरा जिससे डूबकर उसकी मौत हो गई।

दोस्तों ने बताया कि अमृत ने सतखटिया के किनारे पत्थर पर खड़े होकर फोटो खींचने को कहा। दोस्तों ने खतरा भांपकर किनारे नहीं जाने को भी कहा लेकिन वह वहीं खड़ा रहा। फोटो खींचने के बाद जैसे ही दोस्त पीछे मुड़े, अमृत फॉल में गिर पड़ा। दोस्तों के शोर मचाने पर पास के गांव से युवक पहुंचे। उन्होंने करीब 20 मिनट की मशक्कत के बाद अमृत को बाहर निकाला। घटना के समय उसके साथ चार दोस्त मौजूद थे, जबकि साथ आए आधा दर्जन दोस्त पहले ही लौट चुके थे। सभी युवक बाइक से भटिंडा फॉल आए थे। बेटे के डूबने की खबर पाकर पिता मुनीडीह पहुंचे और मुनीडीह ओपी में ही दहाड़ मारकर रोने लगे।

कराटे में ब्लैक बेल्ट : अमृत को कराटे में ब्लैक बेल्ट मिला था। वह खुद पढऩे के साथ-साथ बोकारो में बच्चों को ट्यूशन भी पढ़ाता था। पिता रामपुर हाट में प्राइवेट नौकरी करते हैं। वह अपने घर की सबसे बड़ी संतान था। दो बहनें हैं जो पढ़ाई कर रही हैं।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस