बोकारो, जेएनएन। बोकारो में गुरुवार को तीन और लोग कोरोना से संक्रमित मिले हैं। इनमें एक चास का है जो मुंबई से आया था। एक अन्य गोमिया के चटनियाबागी का है और 14 मई को मुंबई से लौटा था। वहीं नावाडीह के गोनियाटो का 13 मई को कानपुर से लौटने वाला भी संक्रमित पाया गया। चटनियाबागी में ही पहले मरीज की मौत हुई थी। तीनों को बीजीएच में भर्ती किया जाएगा। 

दरअसल, बोकारो में बड़ी संख्या में प्रवासी कामगारों का आगमन हुआ है। 25 मई को नावाडीह में एक कोरोना मरीज मिला था। उसका बीजीएच में इलाज चल रहा है। जिले में अभी तक 19 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। 14 स्वस्थ हो चुके हैं। 

ऐसे मिलते गये कोरोना मरीज

  • 5 अप्रैल : चंद्रपुरा के तेलो में बांग्लादेश के बाद दिल्ली में तब्लीगी मरकज से लौटी महिला कोरोना संक्रमित पायी गयी। 
  • 9 अप्रैल: तेलो की पहली कोरोना मरीज के तीन परिजनों के अलावा साड़म के 70 वर्षीय वृद्ध में मिला कोरोना। 
  • 10 अप्रैल : साड़म के वृद्ध की मृत्यु हो गयी। झारखंड में कोरोना से मृत्यु का यह पहला मामला था। 
  • 12 अप्रैल: गोमिया प्रखंड में साड़म गांव के दलाल टोला में रहने वाले दो और लोग संक्रमित मिले। 
  • 12 अप्रैल : चंद्रपुरा प्रखंड में पिपराडीह के रहने वाला तब्लीगी जमात के प्रचारक में वायरस मिला। 
  • 13 अप्रैल: कोरोना से मरने वाले साड़म के पहले मरीज का एक और परिजन संक्रमित मिला। 
  • 20 अप्रैल : साड़म के एक और बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव मिले। 
  • 22 मई : सीआइएसएफ के चार जवान व तेलो के प्रवासी कामगार कोरोना पॉजिटिव मिले। 
  • 25 मई : नावाडीह के एक प्रवासी कामगार में संक्रमण मिला।  
  • 28 मई : कानपुर और महाराष्ट्र से गोमिया आये दो लोग संक्रमित पाये गये। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस