जागरण संवाददाता, बोकारो: बाेकारो रेलवे के लोको रनिंग स्टाफ के लिए बने रनिंग रूम में सुबह लगभग दस बजे भीषण विस्फोट हुआ है। विस्फोट में रनिंग रूम के रसोई घर में काम कर रहा हराधन व मह‍िला कर्मी सरिता गंभीर रूप से घायल हो गए है। जबकि अन्य घायलों के बारे में जानकारी नहीं मिल सकी है। बताया जा रहा है कि यहां काम करने वाले कई कर्मचारियों को चोट लगी पर मौके से वे सभी भाग गए हैं। विस्फोट एलपीजी सिलिंडर के फटने से होने की सूचना है। घटना में सिलेंडर के परखच्चे उड़ गए। वहीं रसोई घर की दीवार दो किनारे से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई तथा छत में दरार पड़ने की सूचना है। बताया जा रहा है कि रनिंग रूम में 68 गार्ड व ड्राइवर के रहने की व्यवस्था है। घटना के वक्त लगभग चालीस लोग रनिंग रूम में मौजूद थे। घटना के बाद अफरा-तफरी मच गई। इसके बाद इसकी सूचना अग्निशमन विभाग को दिया गया। अग्निशमन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। मामले की जांच रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे हुए हैं।

विस्फोट से दहशत में लोग : रनिंग रूम बोकारो से रेलवे स्टेशन को जाने वाले रास्त में हैं। विस्फोट की आवाज इतनी जोरदार थी कि जो जहां था वहां से भागने लगे या रूक गए। लोगों को पहले लगा कि कहीं आसपास बड़ा बम विस्फोट हुआ है। हालांकि जांच के बाद रेलवे अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि यह बम का विस्फोट नहीं बल्कि एलपीजी सिलिंडर में विस्फोट हुआ है। अग्निशमन विभाग के पदाधिकारी सुरेन्द्र यादव ने बताया कि घटना की सूचना मिलने पर पहुंचे, पूरा रसोई घर ध्वस्त हो गया था। प्रथम दृष्टि में सिलिंडर में विस्फोट का मामला प्रतित हो रहा है। यह जांच से पता चलेगा कि विस्फोट केवल सिलिंडर में आग लगने की वजह से हुई या किसी प्रकार के विस्फोटक पदार्थ में। बताया कि ठेकेदार द्वारा घरेलू गैस का उपयोग किया जा रहा था। यहां फायर सेफ्टी के लिए सिलिंडर है पर काम करने वाला कोई भी व्यक्ति प्रशिक्षित नहीं है।

मौके पर क्षेत्रीय रेल प्रबंधक कर रहे हैं कैंप : घटना के बाद रसोई घर के कचड़ा को हटाया जा रहा है। इसकी निगरानी स्वयं क्षेत्रीय रेल प्रबंधक अरविंद एस कर रहे हैं। रेल प्रशासन मामले की सच्चाई दबाने की गरज से न तो मीडिया वालों को अंदर जाने की इजाजत दे रहा है और न ही घटना के चश्मदीदों से बात करने की इजाजत दे रहा है।

 वर्जन

रनिंग रूम के रसोईघर में सिलेंडर फटने के कारण हादसा हुआ है। इस घटना में 2 कर्मचारी घायल हुए हैं एक का नाम हराधन और दूसरा का नाम सरिता है। आगे मामले की जांच की जा रही है।

अरविंद प्रदीप एस, क्षेत्रीय रेल प्रबंधक बोकारो

 

Edited By: Atul Singh