धनबाद, जेएनएन। झारखंड राज्य बिजली वितरण निगम लिमिटेड और दामोदर घाटी निगम के बीच बकाया बिजली बिल विवाद में अब भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास  भी कूद पड़े हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अयोग्य मुख्यमंत्री करार दिया है। साथ ही झारखंड के विकास के लिए केंद्र से टकराव के बजाय मिलकर काम करने की नसीहत दी है। 

जनता को गुमराह कर रहे मुख्यमंत्री

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि हेमंत सोरेन अयोग्य मुख्यमंत्री हैं। इनके पास न तो राज्य के विकास का कोई एजेंडा है, न कोई दृष्टि, न बुद्धि और न ही सोच है। केंद्र व राज्य सरकार को मिलकर विकास को गति प्रदान करना चाहिए। लेकिन केंद्र से टकराव कर हेमंत जनता को गुमराह करना चाहते हैं। अपनी जिम्मेवारी भूल कर हर दिन केंद्र को कोस रहे हैं।

सत्ताधारी लोग रंगदारी वसूली में व्यस्त

बेरमो विधानसभा उपचुनाव में प्रचार करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री ने शनिवार को बोकारो के सेक्टर एक स्थित भाजपा कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार अपनी जिम्मेवारी से भाग रही है। चुनाव के समय लोगों से वायदा किया गया। लेकिन दस माह बाद इससे संबंधित कोई काम नहीं किया गया। भाजपा सरकार ने विकास योजनाओं को धरातल पर उतारा था। पांच वर्ष में स्वच्छ शासन दिया।  हमारी सरकार ने महिला के नाम पर जमीन की रजिस्ट्री एक रुपए में करने, अपना गांव-अपना काम योजना के अलावा कई योजनाओं को धरातल पर उतारा। 2,586 किमी सड़क बनवाया गया। हर घर तक बिजली पहुंचाई गई। लोगों को पेयजल की सुविधा मुहैया कराई गई। लेकिन वर्तमान सरकार ने सभी योजनाओं को बंद कर दिया। 200 करोड़ रुपए का टूल रुम की स्थापना को लेकर काम शुरु किया गया। इससे युवाओं को प्रशिक्षण व रोजगार मिलता। लेकिन इस दिशा में भी काम नहीं हो रहा है। कहा कि झामुमो झारखंड मुद्रा मोचन पार्टी बन गई है। सत्ताधारी लोग रंगदारी टैक्स की वसूली में लगे हैं। बालू व पत्थर का अवैध खनन जारी है।

सोरेन परिवार की दुखती रग पर रखा हाथ

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की भाभी विधायक सीता सोरेन द्वारा झारखंड सरकार पर किए जा रहे हमलों का जिक्र कर रघुवर दास ने सोरेन परिवार की दुखती रग पर हाथ रखा। उन्होंने कहा कि झारखंड की राजनीति को अवैध व्यापार का अड्डा बना दिया गया है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पूर्व में हेमंत सोरेन सत्ता से बाहर हुए तो डीवीसी का छह हजार करोड़ रुपए बकाया था। जिसे हमारी सरकार ने भुगतान किया। राज्य में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। यहां अर्थव्यवस्था का दिवाला निकल गया है। माेमेंटम झारखंड के तहत जो निवेशक राज्य में आए थे, वे राज्य छोड़ कर जा रहे हैं। यहां बच्चियों को रोजगार मिला था। इनसे रोजगार छीन जायेगा।

झारखंड को बर्बाद करने में कांग्रेस का हाथ

दास ने कहा कि दिल्ली में एनआरआई गेस्ट हाउस पर रुपए खर्च किए जा रहे हैं। जबकि खजाना खाली होने की बात की जा रही है। पत्थर उद्योग से साठगांठ कर करोड़ों रुपए का लेनदेन हो रहा हे। अगर ऑक्शन होता तो करोड़ों रुपए राजस्व में वृद्धि होती। लेकिन राजस्व का नुकसान पहुंचाया जा रहा है। सरकार की अनदेखी से आदिवासी मूलवासी शिक्षकों की नौकरी पर तलवार लटक गई है। कहा कि झामुमो, कांग्रेस व राजद वंशवाद की राजनीति करते हैं। जहां वंशवाद की राजनीति होती है, वहां सिर्फ अपने व परिार के हित के बारे में सोचा जाता है। कांग्रेस क्षेत्रीय दल का पालकी ढ़ो रही है। झारखंड को बर्बाद करने में कांग्रेस का सबसे बड़ा हाथ है। कांग्रेस ने निर्दलीय विधायक को मुख्यमंत्री बना कर सारा मधु खा लिया और कोड़ा खाने के लिए इन्हें जेल भेजवा दिया। राज्य को लूटने नहीं दिया जाएगा।

उपचुनाव में भाजपा की जीत का दावा

कहा कि दुमका व बेरमो विधानसभा उपचुनाव में पैसा बहाया जा रहा है। लेकिन पसीने की जीत होगी। दोनों सीटों पर भाजपा जीत दर्ज करेगी। एक सवाल के जवाब में कहा कि बोकारो में मेडिकल कालेज के लिए भूमि आवंटित की गई है। यहां 27 अक्टूबर को शिलान्यास किया जायेगा। उन्होंने विस्थापितों की दुर्दशा के लिए कांग्रेस को जिम्मेवार ठहराया। प्रवासी मजदूरों को नियोजन नहीं देने पर सरकार पर तंज कसा। मौके पर बोकारो विधायक बिरंची नारायण, भाजपा नेता राकेश प्रसाद, संजय त्यागी, दिलीप श्रीवास्तव, कमलेश राय आदि उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस