धनबाद, जेएनएन। कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश भर में लॉकडाउन है धनबाद में भी इसका कड़ाई से पालन हो रहा है, लेकिन इसका सबसे ज्यादा प्रभाव ब्लड बैंक पर पड़ रहा है। पीएमसीएच के ब्लड बैंक में पिछले एक माह से खून की किल्लत जारी है। ब्लड बैंक के स्टोर में लगभग 70 यूनिट ब्लड ही बचे। पहले यह अमूमन ढाई सौ से ज्यादा होते थे। लॉकडाउन को देखते हुए सरकार ने रक्तदान शिविरों पर भी रोक लगा दी थी। अब परेशानी बढ़ने के बाद प्रशासन ने स्वयंसेवी संस्थाओं को अनुमति देनी शुरू कर दी हैं।

हालांकि, इसके लिए शारीरिक दूरी नियम का पालन करना अनिवार्य है। साथ ही अन्य गाइडलाइन का भी पालन करना है। इसी दरमियान बंगाली वेलफेयर सोसाइटी को जिला प्रशासन ने रक्तदान शिविर लगाने की अनुमति दी है। यह रक्तदान शिविर 11 अप्रैल को हीरापुर में लगेगी। वहीं, बड़ा गुरुद्वारा की ओर से भी 13 अप्रैल को रक्तदान शिविर लगाया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन से अनुमति के लिए आवेदन दिया गया है। अनुमान है कि इन दोनों शिविरों से काफी मात्रा में रक्त संग्रह होगा।

बिना डोनर के नहीं मिल रहा है ब्लड : पीएमसीएच में फिलहाल बिना डोनर के ब्लड नहीं मिल पा रहा है। जो भी मरीज यहां खून के लिए आ रहे हैं, उनके परिवार को अलग से ब्लड डोनर लाने को कहा जा रहा है। इसके एवज में ही दूसरी यूनिट की खून दी जा रही है। सबसे ज्यादा परेशानी थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों को हो रही है। ऐसे में कई समाजसेवी संगठन आगे आकर पीएमसीएच में ब्लड डोनेट कर रहे हैं। इसमें हाउस उड़ान हौसलों की, सुनिधि हेल्पिंग हैंड, रक्तदान महादान आदि संस्थाएं सक्रिय हैं।

लॉकडाउन होने के कारण ब्लड बैंक में खून की कमी हो गई है। ऐसे में जो लोग यहां आ रहे हैं, उनसे मजबूरन डोनर मांगा जा रहा है। लोगों से अपील है कि रक्तदान करें व जरूरतमंद की जान बचाएं। -डॉ. पीके सिंह, प्रभारी, ब्लड बैंक, पीएमसीएच, धनबाद

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस