जासं,धनबाद। पुलिस अगर सतर्क होती तो जमीन कारोबारी नन्हे अंसारी की जान बच सकती थी। नन्हे अंसारी की हत्या से पूर्व दीपावली के दिन गैंगस्टर प्रिंस खान ने फोन कर रिकवरी एजेंट उपेंद्र ङ्क्षसह को धमकी दी थी। धमकी में उसने उपेंद्र ङ्क्षसह को घर में घुस कर मारने की बात कही थी। साथ ही यह भी कहा था कि इस बार जितना कचड़ा है सबको साफ कर देंगे। इस मामले की प्राथमिकी उपेंद्र ङ्क्षसह ने भूली ओपी में कराई थी। यहीं नहीं, उपेंद्र ङ्क्षसह ने आशंका भी जाहिर की थी की गोपी खान व ङ्क्षप्रस खान कुछ बड़ा कांड करने जा रहे हंै। वे लोग अंडरग्राउंड भी हो गए है। उपेंद्र ङ्क्षसह ने पुलिस को काल रिकार्डिंग भी दी थी और बताया था कि ङ्क्षप्रस खान की बात किसी कांड की ओर इशारा कर रही है।

उपेंद्र ने बताया गाड़ी का था पैसा बाकी : उपेंद्र सिंह ने बताया कि प्रिंस ने तीन लग्जरी गाड़ी फाइनेंस करवाया था। इसमें सफारी, थार और स्कार्पियो शामिल है। कोई भी गाड़ी उसके नाम पर नहीं है। इन्हीं सब गाड़ी को उसे रिकवर करना था। तीनों गाड़ी मिलाकर कुल साढ़े सात लाख रुपये किस्त बकाया था। वह पैसा दे नहीं रहा था। इसी कारण प्रिंस खान ने उसे धमकी दी थी, कि धमकी देने के बाद वह फाइनेंस कंपनी के लिए गाड़ी रिकवर नहीं करेगा। उपेंद्र ने बताया कि नन्हे अंसारी की हत्या के बाद उसी ने उसकी तीन गाडिय़ां फाइनेंस कंपनी के लिए रिकवर की है।

उपेंद्र ङ्क्षसह पर गोली चलाने के आरोप में जेल जा चुका ङ्क्षप्रस खान : 22 मार्च 2018 को बैंक मोड़ में स्काइलार्क होटल के समीप उपेंद्र ङ्क्षसह पर ताबड़तोड़ गोलियां चलायी गयी थी। इस गोली कांड में उपेंद्र ङ्क्षसह गंभीर रूप से घायल हुआ था। उपेंद्र ङ्क्षसह ने ङ्क्षप्रस खान सहित आधा दर्जन लोगों पर प्राथमिकी दर्ज करायी थी। ङ्क्षप्रस खान इस कांड का मुख्य आरोपित था। बाद में वह सरेंडर कर जेल चला गया था।

उपेंद्र को ऐसे दी धमकी

----------------

ङ्क्षप्रस : रिकार्डिंग कर लीजिए

उपेंद्र : कौन

ङ्क्षप्रस : पिछला रिकार्डिंग काम नहीं आया था, हो सकता है इस बार काम आ जाए, क्यों की इस बार ङ्क्षजदा नहीं बचोगे, हो सकता है प्रशासन बचा ले।

उपेंद्र : तुम बहुत बड़े विधाता हो या भगवान हो गए है।

ङ्क्षप्रस : हम विधाता है कि क्या है इस बार पता चल जाएगा। इस बार हम सफाया करने ही निकले है, सारा कचड़ा साफ कर देंगे...

उपेंद्र : नया चचा (अमन ङ्क्षसह) का एंट्री हो गया है ना ?

ङ्क्षप्रस : नया चचा(अमन ङ्क्षसह) तो रो रहा है कि भइया लोग जेल में जहर दे दिए थे। उसे बचा लीजिए। इस बार नया चचा धनबाद में फोन कर दिया तो उसका भाई का गला काट कर धनबाद स्टेशन में टांग देंगे। इस बार तुम गेट पर भी सुरक्षा रख लेगा न तो भी तुमको उड़ा देंगे। तुमको मार कर ही सरेंडर करेंगे...

उपेंद्र : तुम अपना ङ्क्षचता करो?

ङ्क्षप्रस : मेरे पास तो पुलिस नहीं पहुंच पाएगा तुम लोग क्या है.. तुमको तुम्हारा घर में ही ठुकवा देंगे।

उपेंद्र : बिल में ही घुस कर हमला करेगा, बिल से बाहर निकलो।

Edited By: Mritunjay