धनबाद, जेएनएन: कोयलांचल में बरसात आते ही आवारा कुत्तों का भी रौद्र रूप दिखने लगा है। पिछले 4 दिनों में 168 लोग कुत्ते के काटने से जख्मी हुए हैं। एसएन एमएमसीएच के एंटी रेबीज वैक्सीन सेंटर में वैक्सीन के लिए हर दिन 40 से 45 लोग आने लगे हैं। शहरी से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में एक समान कुत्तों का आतंक दिख रहा है। यही वजह है कि जिले के हर जगह से जख्मी अस्पताल आ रहे हैं। डॉग बाइट की सबसे ज्यादा घटनाएं सड़कों पर हो रही है। जहां पर आवारा कुत्ते घूम रहे हैं। 12 जून को 35, 14 जून को 40,15 जून को 45 और 16 जून को 48 लोगों को कुत्ते ने काटा इन सभी को एंटी रेबीज केंद्र में वैक्सीन लगाया गया।

सड़कों पर घूम रहे आवारा कुत्ते, निगम बेपरवाह

जिले में आवारा कुत्ते के लिए नगर निगम की ओर से विशेष योजना बनाई गई थी। लेकिन लंबे समय के बावजूद अभी तक इस पर कोई ठोस योजना नहीं बन पाई है। दूसरी और इसका खामियाजा आम लोगों को उठाना पड़ रहा है। शहर के विभिन्न चौक चौराहों पर कुत्तों का झुंड घूम रहा है। लोगों के वाहनों को देखकर ही यह कुत्ते पीछे दौड़ जा रहे हैं। सबसे सबसे ज्यादा परेशानी राहगीरों को इससे हो रहा है।

सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में एंटी रेबीज रखने का निर्देश

स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में बरसात से जुड़ी बीमारियां और एंटी रेबीज वैक्सीन को रखने का निर्देश दिया गया है। इस संबंध में सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को फंड आवंटित किए जा रहे हैं। सिविल सर्जन डॉक्टर गोपाल दास ने बताया कि दूसरी ठप पड़ी योजनाओं को अब तेज करने का निर्देश दिया जा रहा है। ।इसके साथ ही मौसमी बीमारियां और एंटी रेबीज वैक्सीन, सांप काटने के बाद दी जाने वाली दवा एंटी स्नेक वेनम रखने का निर्देश दिया गया है।

Edited By: Atul Singh