धनबाद, जेएनएन। बीसीसीएल प्रबंधन कार्मिक नगर और जगजीवन नगर के सी और डी टाइप क्वाटरों में रहने वाले अधिकारियों से बकाया बिजली बिल वसूलने वाली है। एक अप्रैल 2019 के बाद बिजली बिल तैयार कर वेतन से राशि कटौती करने का फरमान जारी कर दिया है। प्रबंधन बेसिक के एक प्रतिशत दिए जाने वाली राशि को समायोजित करते हुए मीटर बिल के तहत भुगतान की पूरी तैयार कर ली है।

पहले चरण में 457 अधिकारियों को इसका भुगतान करना पड़ेगा। दस माह के बिजली बिल के रूप में करीब पांच करोड़ वसूली करने की तैयारी है। एक अधिकारी का 20-30 हजार तक अधिकतम बिल बकाया है। चूंकि इनके आवास में बिजली का मीटर लगा हुआ है। बिल का भुगतान एक अप्रैल 2019 से लेना है। इसके लिए वित्त विभाग से विचार विमर्श शुरू हो गई है। सवाल यह है कि जिनके आवास में बिजली बिल का मीटर नहीं लगी है, उनसे राशि वसूली नहीं जाएगी। प्रबंधन की भेदभाव नीति को लेकर अधिकारियों में आक्रोश है।

मालूम हो कि पहले अधिकारी एवं गैर अधिकारी दोनों को बेसिक का एक प्रतिशत बिजली बिल के रूप में भुगतान करना पड़ता था। रकम वेतन से कट जाती थी। अब जिस अधिकारी का जितना मीटर के अनुसार बिल होगा, उतनी रकम की कटौती वेतन से होगी।

कहा कितने आवास में लगे मीटर : कोयला नगर व कार्मिक नगर में 393 आवास तो जगजीवन नगर के 64 बंगले में मीटर लगा हुआ है।

कोल इंडिया के आदेश पर आवासों में बिजली मीटर लगाया गया है। करीब साढ़े चार सौ आवास में मीटर लगाया गया है, धीरे धीरे सभी आवास में नियम के तहत बिजली मीटर लगाया जाएगा। -संतोष सिंह, जीएम प्रशासनिक 

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस